नई दिल्ली 26, May 2024

लेख

1 - केजरिवाल के जमानत पर रिहा होने पर शुरु हुई नई कवायदें

2 - मतदान की दर धीमी आखिर माजरा क्या

3 - क्यूं चलाना चाहते हैं केजरीवाल जेल से सरकार

4 - 2004-14 के मुकाबले 2014-23 में वामपंथी उग्रवाद-संबंधित हिंसा में 52 प्रतिशत और मृतकों की संख्या में 69 % कमी

5 - कर्तव्य पथ दिखी शौर्य की झलक

6 - फ़ाइनली राम लल्ला अपने आशियाने में हो गये हैं विराजमान

7 - राजस्थान का ऊँट किस छोर करवट लेगा

8 - एक बार फिर गणपति मय हुई माया नगरी मुंबई

9 - पत्रकारिता की आड़ में फर्जीवाड़े के खिलाफ एनयूजे(आई) छेड़ेगी राष्ट्रव्यापी मुहीम

10 - भ्रष्टाचार, तुस्टिकरण एवं परिवारवाद विकास के दुश्मन

11 - एक बार फिर शुरू हुई पश्चिम बंगाल में रक्त रंजित राजनीति

12 - नहीं होगा बीजेपी के लिऐ आसान कर्नाटक में कांग्रेस के चक्रव्यूह को भेद पाना

13 - रद्द करने के बाद भी नहीं खामोश कर पायेंगे मेरी जुबान

14 - उत्तर-पूर्वी राज्यों के अल्पसंख्यकों ने एक बार फिर बीजेपी पर जताया भरोसा

15 - 7 लाख तक की आमदनी टैक्स फ्री

16 - गुजरात में फिर एक बार लहराया बीजेपी का परचम

17 - बीजेपी आप में काँटे की टक्कर

18 - सीमित व्यवस्था के बावजूद धूम-धाम से हो रही है छट माइय्या की पूजा

19 - जहाँ आज भी पुजा जाता है रावण

20 - एक बार फिर माया नगरी हुई गणपतिमय

21 - एक बार फिर लहराया तिरंगा लाल किले की प्राचीर पर

22 - बलवाइयों एवं जिहादियों के प्रति पनपता सहनभूतिक रुख

23 - आजादी के अमृत महोत्सव की कड़ी के रूप में मनाया जा रहा है 8 वाँ विश्व योग दिवस

24 - अपने दिग्गज नेताओं को नहीं संभाल पाई कांग्रेस पार्टी

25 - ज्ञान व्यापी मस्जिद के वजु घर में शिवलिंग मिलने से विवाद गहराया

26 - आखिर क्यूँ मंजूर है इन्हे फिर से वही बंदिशें.....

27 - पाँच में से चार राज्यों में लहराया कमल का परचम

28 - पेट्रोलियम, फर्टिलाइजर एवं खाद्य सामाग्री पर मिलने वाली राहत में लगभग 27 फीसदी की कटौती

29 - जे&के पुलिस के सहायक उप निरीक्षक बाबूराम शर्मा मरणोपरांत अशोक चक्र से संमानित

30 - आखिर कौन होंगे सत्ता के इस महाभोज के सिकंदर

31 - ठेके आन फिटनेस सेंटर ऑफ छा गए केजरीवाल जी तुस्सी

32 - मुख्य सुरक्षा अधिकारी हुए पंचतत्वों विलीन

33 - दिल्ली में यमुना का पानी का बीओडी लेवेल 50 के पार

34 - फूक के कदम रखिए वरना हो सकता है आपका भी अगला नंबर

35 - महंत नरेंद्र गिरी की मौत पर लगे सवालिया निशान

36 - अकाली दल बादल ने लगाई हैट्रिक

37 - सबके साथ,सबके विकास,सबके विश्वास एवं सबके प्रयास से ही लक्ष्य प्राप्ति संभव

38 - जबरन कराया गया बच्ची का अंतिम संस्कार

39 - सिने जगत के ट्रेज्डी किंग को देश का आखरी सलाम

40 - कोरोना से जंग मे योग ही एक आशा की किरण

41 - संक्रमण काल का मंत्र फिट रहें दुरूस्त रहें

42 - एक बार फिर लहराया पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस का परचम

43 - हिंसा एवं टकराव की बिसात पर बंगाल की राजनीति

44 - ट्रेक्टर रैली के नाम पर बलवाइयों का तांडव

45 - 72 वें गणतंत्र दिवस का आकर्षण राम मंदिर की झांकी

46 - किसान आंदोलन का रूख कहीं पंजाब में संभावित चुनाव तो नहीं

47 - बिहार में फिर एक बार यूपीए का परचम

48 - बिहार में इस बार का चुनावी मुद्दा है विकास

49 - जातिगत एवं सांप्रदायिक एंगल से चमकती राजनीति

50 - हाथरस मामले में तुष्टिकरण की राजनीति

दिल्ली में मतदान की दर 53.63 फ़ीसदी

45 डिग्री  से ऊपर पारा पहुंचने के बावजूद भी जहां दिल्ली के मतदाताओं में उत्साह की कमी नहीं दिखी वहीं मतदाताओं का एक वर्ग ऐसा भी था जिसका चुनाव के प्रति रहा रवैया उदसीन । नतीजन पिछली दफा मतदान की दर  56.86 फीसदी  थी , इस बार का मतदान 53.73 फीसदी रहा।

दिल्ली की सातों सीटों के प्रत्याशियों एवं उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं द्वारा मतदान किए जाने  के समाचार मिले हैं  । देश की राष्ट्रपति सुश्री द्रोपदी मुर्मु , बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष  वीरेंद्र सचदेवा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल, प्रियंका एवं सोनिया गांधी ने भी  अपने मतदान के अधिकारों का प्रयोग करते हुए मतदान किया ।

दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी के नेशनल कनवीनर अरविंद  केजरीवाल ने भी अपने परिवार के साथ जाकर वोट डाला ।  वोट किसी के भी पाले में पड़ें विचारणीय है तो बस मतदान की घटती दर । कहीं न कहीं अब जरूरी हो गया है मतदाता के वोट के प्रति उदासीन रवैए का विश्लेष्ण ।

बंग भवन के सामने भाजपा ओबीसी मोर्चे ने किया ममता का पुतला दहन

दिल्ली भाजपा ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष श्री सुनील यादव के नेतृत्व में आज बंग भवन के सामने ओबीसी मोर्चा द्वारा ममता बनर्जी सरकार के विरोध में विरोध प्रदर्शन किया और ममता बनर्जी का पुतला दहन किया। 
 
कलकत्ता हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से पश्चिम बंगाल में जारी किए गए सभी ओबीसी प्रमाणपत्रों को रद्द करते हुए ममता बनर्जी की तुष्टिकरण की राजनीति पर एक बहुत बड़ा ताला लगा दिया है। दूसरी ओर, एक ओर राहुल गाँधी ने कांग्रेस की पोल खोलते हुए स्वीकार कर लिया है कि कांग्रेस ने आजादी से लेकर 70 सालों तक देश के गरीब, दलित, पिछड़े, आदिवासी एवं महिलाओं के साथ अन्याय किया। विरोध प्रदर्शन में ओबीसी मोर्चा महामंत्री राम खिलाडी यादव, उपाध्यक्ष श्याम कुमार, उपाध्यक्ष हिमांशु यादव, राम नरेश पाल, अनिल राजभर सहित अनेक कार्यकर्त्ता उपस्तिथ रहे। 
विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए श्री सुनील यादव ने कहा कि इंडी गठबंधन के सभी घटक दल इसी मानसिकता पर काम कर रहे हैं और वे दलित, ओबीसी और आदिवासियों का हक़ छीन कर मुसलमानों को देना चाहते हैं। जब तक भाजपा है, वह दलित, ओबीसी और आदिवासियों के अधिकारों पर किसी को भी डाका नहीं डालने देगी।
कलकत्ता हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका पर संज्ञान लेते हुए 2010 से 2024 तक तृणमूल कांग्रेस की ममता बनर्जी सरकार ने जितने प्रमाणपत्र ने जारी किए थे, उस सबको रद्द कर दिया है।
कोर्ट ने कहा कि ममता बनर्जी ने बिना कोई सर्वेक्षण कराये 118 मुसलमान जातियों को सीधे OBC वर्ग में शामिल कर के सभी मुसलमानों को आरक्षण का लाभ दे दिया था जो कि संविधान की मूल भावना का सरासर उल्लंघन था।
श्री सुनील यादव ने कहा कि ममता बनर्जी ने पिछड़े वर्ग के अधिकार पर डाका डालते हुए उनसे आरक्षण छीन कर मुसलमानों को देना चाहती हैं, तभी तो हाईकोर्ट का आदेश आने के बाद ममता बनर्जी ने कहा - “मैं कलकत्ता HC के फैसले को स्वीकार नहीं करती हूँ। ओबीसी आरक्षण वैसे ही जारी रहेगा”। यह ममता बनर्जी के अहंकार को दिखाता है और देश के संविधान के खिलाफ तृणमूल और इंडी गठबंधन की सोच को भी दर्शाता है। 
ममता बनर्जी ने हाईकोर्ट के निर्णय पर जिस तरह का बयान दिया है, यह अराजकता का प्रतीक है। यह अदालत की अवमानना तो है ही, संविधान का अपमान तो है ही, साथ ही यह पश्चिम बंगाल की जनता के साथ विश्वासघात भी है क्योंकि हमारे संविधान में धर्म के आधार पर आरक्षण का कोई प्रावधान नहीं है।
जून 2023 में, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग (एनसीबीसी) ने पाया कि रोहिंग्या और अवैध बांग्लादेशी अप्रवासियों को पश्चिम बंगाल में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ था। एनसीबीसी ने यह भी पाया कि राज्य में हिंदुओं की तुलना में मुस्लिम ओबीसी जातियां अधिक थीं (हालांकि पश्चिम बंगाल में हिंदू बहुसंख्यक हैं)।
 पश्चिम बंगाल में जिन 179 जातियों को ओबीसी का दर्जा ममता बनर्जी सरकार द्वारा दिया गया, उनमें से 118 जातियां मुस्लिम समुदाय से हैं। 
 ममता दीदी, आपकी तुष्टिकरण की राजनीति अब और नहीं चलने वाली। 04 जून को बंगाल की जनता 30 से अधिक लोक सभा सीटों पर कमल खिला कर 400 सीटों से मोदी जी को लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाएगी। इसी दिन से आपकी विदाई का दिन शुरू हो जाएगा।
राहुल गाँधी ने कल एक कार्यक्रम में जिसका कथित तौर पर नाम था संविधान सम्मान सम्मेलन, उसमें स्वीकार किया कि उनकी दादी, उनके पिताजी, उनकी माताजी के समय किस तरह संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही थी और दलित, पिछड़े एवं आदिवासियों का हक़ कांग्रेस की सरकार मार रही थी। आप सच को छुपाने की कितनी भी कोशिश करो लेकिन सच तो सच होता है, वह तो सामने आ ही जाता है। 
कांग्रेस द्वारा पिछड़ों, दलितों और आदिवासियों के शोषण के एक नहीं, कई उदाहरण हैं। कांग्रेस ने 40 साल तक ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता नहीं दी। ओबीसी कमीशन को संवैधानिक मान्यता देने का कार्य यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने किया।
कांग्रेस ने दलित, ओबीसी एवं आदिवासियों के अधिकारों पर डाका डालने का हरसंभव काम किया। कांग्रेस ने अपने शासित राज्यों में दलितों, पिछड़ों और आदिवासियों का आरक्षण छीन कर मुसलमानों को देने का पाप किया। आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में कांग्रेस ऐसा करने के कई प्रयास कर चुकी है। कर्नाटक में तो ओबीसी कोटे में मुसलमानों को डालकर ओबीसी का आरक्षण मुसलमानों को दिया जा रहा है।
 कांग्रेस की सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और जामिया मिल्लिया इस्लामिया जैसे शिक्षण संस्थानों में भी ओबीसी, दलित और आदिवासियों का आरक्षण खत्म कर दिया।
 जिस ममता बनर्जी ने ओबीसी का आरक्षण छीनकर मुसलमानों को दिया, मुसलमानों को ओबीसी का दर्जा दिया, उसे कांग्रेस और सपा उत्तर प्रदेश में सीट दे रही है। ये इनकी तुष्टिकरण की राजनीति की पराकाष्ठा है।
बंगाल की ही तरह कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में मुसलमान जातियों को ओबीसी में शामिल कर रही है और धर्म के आधार पर मुसलमानों को आरक्षण दे रही है। कर्नाटक, केरल और आंध्र प्रदेश में उसने विभिन्न समय में तमाम मुसलमानों को ओबीसी में डालकर उनको आरक्षण दिया है। आन्ध्र प्रदेश में चार बार इसका प्रयास किया गया। कर्नाटक में ओबीसी के अंदर कैटेगरी 2B बनाकर सभी मुस्लिम जातियों को आरक्षण दिया गया। 
बाबा साहब का तो कांग्रेस ने कदम कदम पर विरोध किया। बाबा साहब को चुनाव में जीत से रोकने के लिए कांग्रेस ने बार–बार रोड़े अटकाए। बाबा साहब को नहीं दिया गया। बाबा साहब को भारत रत्न तब मिला जब केंद्र में भाजपा के समर्थन से सरकार बनी। कांग्रेस ने संसद में बाबा साहब का तैल चित्र भी नहीं लगने दिया।

अब यह मतदाता के ऊपर है कि वह नेशन फर्स्ट की थ्योरी के साथ है या फिर परिवारवाद के

इंडिया गठबंधन  पर निशाना साधते हुए  प्रधान मंत्री  नरेंद्र  भाई मोदी ने कहा बीजेपी  एनडए की सरकार पक्की । पश्चिम दिल्ली के द्वारिका सेक्टर 14  में आयोजित बीजेपी  द्वारा आयोजित दिल्ली के चार लोकसभा प्रत्याशियों के लिए आयोजित प्रचार रेली में प्रधान मंत्री ने खींचा अपने 10 साल के विकास मॉडल का खींचा खाका । बीजेपी के विकास मॉडल को नेशन फर्स्ट  एवं इंडिया गठबंधन के मॉडल को फ़ैमिली फर्स्ट बताते हुए उन्होंने कहा कि अब यह मतदाता पर  निर्भर है कि वह किसको चुनता है। 

कांग्रेस के 30 साल एवं  अपने 10  साल के कार्यकाल का तुलनात्मक विश्लेषण करते हुए उन्होंने बताया कि  कांग्रेस शासन  काल में  एक दिन में  12 किलोमीटर सड़क का निर्माण होता था और उनके कार्यकाल में 30 किलोमीटर हुआ । शादी के बाद के 60  सालों  में 70  एयरपोर्टों का निर्माण हुआ एवं उनके शासन के 10 सालों में 70 नये एयरपोर्टों का निर्माण  हुआ । कांग्रेस शासन काल में 7 AIMS थे जो मोदी के शासनकाल में  बढ़कर 29  हो गये । कांग्रेस के शासनकाल में 25 फ़ीसदी घरों में टूटी से पानी अता था  अब  75 फ़ीसदी घरों में टूटी से पानी आता है।

यदि बात मोबाइल फ़ोन की जाये तो 10 साल पहले भारत मोबाइल  एक्सपोर्ट  किए जाते थे  और आज मोबाइल के एक्सपोर्ट के लिए भारत  विश्व का दूसरा देश है ।  पहले बैंक घाटे की व्यवस्था में चल रहे थे आज बैंकों का मुनाफ़ा 3 लाख करोड़ पार कर गया है  ।  स्वयं  स्वर्गीय राजीव  गांधी  ने भी  उस समय स्वीकारा था कि उस दौरान 1 रुपये का लाभ जनता तक पहुँचते पहुँचते 15 पैसे रह जाता था और आज 1 रुपये जा लाभ सीधा लाभार्थी के खाते में पहुँचता है ।

प्रधानमंत्री ने चारों लोकसभा प्रत्याशियों जिनमें बाँसुरी स्वराज, कंवलजीत सहरावत, रणबीर सिंह विदुरी एवं योगेंद्र  चाँदौलिया को वोट देकर उनके हाथ मज़बूत करने की अपील की ।

स्पोर्टस ड्रामा फिल्म में बॉलीवुड स्टाइल रोमांस का तड़का - मिस्टर & मिसेज माही

 

मध्य दिल्ली के इंपीरियल होटल में मीडिया से रुबरु हुई जाहन्वी कपूर । वह अपनी फिल्म मिस्टर & मिसेज माही के प्रचार के सिलसिले में दिल्ली आई हुई थीं। फिल्म का निर्माण धर्मा प्रोडक्शंस ने किया है  एवं निर्देशक हैं करण शर्मा ।

फिल्म में जाहन्वी कपूर महिमा का किरदार अदा कर रहीं हैं जो कि पेशे से डॉक्टर हैं जिनका सपना क्रिकेटर बनने का है और उनके पति महेंद्र के किरदार के रूप में दिखाई देंगे राजकुमार राव जो कि पूर्व क्रिकेटर थे महिमा का सपना पूरा करने में उसकी मदद करते हैं । कुल मिलाकर यह स्पोर्टस ड्रामा फिल्म है जिसमें बॉलीवुड स्टाइल रोमांस का तड़का लगाया गया है । 

जाहन्वी कपूर की राजकुमार राव के साथ यह उनकी दूसरी  फिल्म है । पहली फिल्म रूही में उन्होंने  साथ काम किया था । जाहन्वी कपूर ने शूटिंग के दौरान के अपने अनुभवों को सांझा करते हुए उन्होंने बताया कि शूटिंग के दौरान राजकुमार राव से उनकी अच्छी बॉन्डिंग रही । क्रिकेट मैदान में 6 महीने की डिफीकल्ट ट्रेनिंग इंजरीज भी  काफी हुई ।

अरेंज मेरिज पर  अधारित इस फिल्म का थीम है  सपने। आप सपनों को पूरा करने चाहते हैं  l  यदि परिवार और आपके अपनों का सपोर्ट नहीं मिले तो आत्मविश्वास टूट जाता है ।  लेकिन अचानक  आपकी  जिंदगी में कोई ऐसा आ जाए जिसकी सपोर्ट से आप अपने  सपनों के मुकाम  को पूरा  कर लेते हैं।

फिल्म 31 मई को देश भर के सिनेमा घरों में रिलीज होने वाली है ।   

 

संजय सिंह के बयान को एक फिल्मी स्क्रिप्ट : वीरेंद्र सचदेवा

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष श्री वीरेंद्र सचदेवा ने आज एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए संजय सिंह के बयान को एक फिल्मी स्क्रिप्ट बताया और कहा कि अब 25 मई तक अरविंद केजरीवाल अपने नेताओं से अलग-अलग स्क्रिप्ट लिखवाएंगे ताकि जनता की सहानुभूति मिल सके। प्रेसवार्ता में मीडिया प्रमुख श्री प्रवीण शंकर कपूर और मीडिया रिलेशन प्रमुख श्री विक्रम मित्तल उपस्थित थे। 
श्री वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि सुश्री स्वाति मालीवाल की घटना पर एक शब्द नहीं बोलने वाले केजरीवाल ने अपने इशारे पर अब नई – नई स्क्रिप्ट लिखवाना शुरु कर दिया है जिसका पहला एपिसोड आज देखा गया है।
उन्होंने कहा कि 8 अप्रैल 2014 और 25 अगस्त 2016 यह दो तारीख है जब अरविंद केजरीवाल ने अपने पर थप्पड़ चलवाया था, जिस खेल को दिल्ली की जनता समझ चुकी है इसलिए अब नई नौटंकी शुरू करी है क्योंकि थप्पड़ चलवाने का हथकंडा अब पुराना हो चुका है। 
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अब आम आदमी पार्टी ने तय कर लिया है कि किस दिन क्या करवाना है। प्रशासन और चुनाव आयोग से मेरी अपील है कि अगर आने वाले समय में अरविंद केजरीवाल के साथ कुछ होता है तो उसके इकलौते जिम्मेदार अरविंद केजरीवाल स्वयं ही होंगे इसलिए दिल्ली पुलिस से मेरी गुजारिश है कि केजरीवाल की सुरक्षा बढ़ा दी जाए। यह जनता के सवालों से बचने और उनकी सहानुभूति बटोरने के लिए अलग-अलग तरह की नैटंकी करेंगे। झूठी बात को प्रचारित करना ही इनका
श्री सचदेवा ने कहा कि केजरीवाल का चेहरा कल ही बेनकाब हो गया जब सिर्फ 36 मिनट में उनका पूरा संघर्ष खत्म हो गया। भाजपा राष्ट्रीय कार्यालय के सामने पूरे दिन बैठने की जगह केजरीवाल सिर्फ 36 मिनट में ही अपना धरना प्रदर्शन खत्म कर दिया क्योंकि अब वह शीशमहल वाले केजरीवाल हैं जिनसे दिल्ली की गर्मी बर्दाश्त नहीं होती। केजरीवाल अब सिर्फ संघर्ष करते हैं दिल्ली में भ्रष्टाचार करने के लिए और एक गुंडे को बचाने के लिए जो इनके काले कारनामों का राजदार है।
श्री वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा कि जब जेल के अंदर थे तो सुश्री आतिशी को चिट्ठी लिखकर कहा करते थे कि दिल्लीवालों के लिए पानी की चिन्ता कर लेना लेकिन आज जब जेल से बाहर हैं तो उन्हें पानी के हाहाकार का कोई असर नहीं है। उन्होंने कहा कि जलबोर्ड को लूटने वालों की नौटंकी दिल्ली की जनता समझती है और इस चुनाव में उन्हें इसका जवाब मिलेगा। 

सांसद निधि का 66 फ़ीसदी हिस्से से ज्यादा नहीं हो पाया दिल्ली पर खर्च: जस्मीन शाह

 ‘‘आप’’ के वरिष्ठ नेता जस्मीन शाह ने केंद्र सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ सैटेटिस्टिक एंड प्रोग्राम इंप्लीमेंटेशन विभाग से मिले आंकड़ों के जरिए भाजपा सांसदों की पोल खोलते हुए कहा कि सातों सांसदों को पिछले 5 साल में सांसद निधि के तहत 124 करोड़ रुपए मिले थे और ये 66 फीसद से ज्यादा बजट खर्च ही नही कर पाए। इस तरह, इन्होंने 81 करोड़ रुपए बर्बाद कर दिए। 124 करोड़ रुपए में से भाजपा सांसद डॉ. हर्षवर्धन ने 7.5, गौतम गंभीर, मनोज तिवारी, रमेश बिधुड़ी व मिनाक्षी लेखी ने 7-7 रुपए खर्च किया है, जबकि प्रवेश वर्मा और हंसराज हंस ने मात्र 5-5 करोड़ खर्च किया है। जबकि 81 करोड़ का इस्तेमाल सीसीटीवी, कानून-व्यवस्था, सड़क व नाली बनाने में हो सकता था। इसीलिए चुनाव की घोषणा के दो महीने बाद भी भाजपा जनता के बीच अपने सांसदों के काम नहीं बता पा रही है और केवल हिन्दू-मुस्लिम, मंगलसूत्र कर लोगों को भटका रही है। वहीं, देश में केवल आम आदमी पार्टी काम की राजनीति करती है। हम हमेशा कहते हैं कि अगर हमने काम किया है, तो हमें वोट देना। 
जस्मीन शाह ने केंद्र सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ सैटेटिस्टिक एंड प्रोग्राम इंप्लीमेंटेशन विभाग से मिले पिछले 5 साल के आंकड़े रखते हुए बताया कि 2019 से 2024 के बीच में दिल्ली के सातों सांसदों को कुल 124 करोड़ रुपए आवंटित किए गए थे। जिसमें बीजेपी के सांसदों से 124 करोड़ रुपए में से 81 करोड़ रुपए खर्च नहीं किए। यानि 66 फीसद या दो तिहाई पैसा बीजेपी के सांसदों ने बर्बाद किया। इन सातों सांसदों में से किसी एक का भी ट्रेक रिकॉर्ड अच्छा नहीं है। डॉ. हर्षवर्धन चांदनी चौक से सांसद थे, पिछले 5 सालो में उन्हें 22 करोड़ रुपए का बजट उन्हें लोगों की समस्याओं पर खर्च करने के लिए मिले थे, लेकिन उन्होंने केवल 7.5 करोड़ रुपए खर्च किए। पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर को 17 करोड़ रुपए का बजट मिला था, जिसमें से उन्होंने केवल 7 करोड़ रुपए खर्च किए। मनोजी तिवारी जिसे बीजेपी ने इस बार दोबारा टिकट दिया है, उनको भी 17 करोड़ रुपए का बजट मिला था जिसमें से उन्होंने केवल 7 करोड़ रुपए खर्च किए। पश्चिमी दिल्ली से प्रवेश साहिब वर्मा को 17 करोड़ रुपए का बजट मिला लेकिन उन्होंने सिर्फ 5 करोड़ रुपए खर्च किए। हंस राज हंस, जो उत्तर पश्चिमी दिल्ली से सांसद थे, उन्हें भी 17 करोड़ रुपए का बजट मिला लेकिन उन्होंने भी केवल 5 करेड़ रुपए खर्च किए। रमेश बिधूड़ी दक्षिणी दिल्ली से सांसद थे, उन्हें भी 17 करोड़ रुपए का बजट मिला लेकिन उन्होनेक केवल 7 करोड़ रुपए खर्च किए। मिनाक्षी लेखी जो केंद्र में मंत्री भी रहीं, वो नई दिल्ली की सांसद थी। 17 करोड़ रुपए में से उन्होंने भी केवल 7 करोड़ रुपए ही खर्च किए। 
जस्मीन शाह ने कहा कि बीजेपी से इन सांसदों ने कुल 124 करोड़ में से 81 करोड़ रुपए का कोई इस्तेमाल नहीं किया गया। इन 81 करोड़ रुपयों में जनता के कई काम हो सकते थे। कई क्लीनिक बन सकते थे, सीसीटीवी कैनरे लग सकते थे, कानून व्यवस्था की समस्याओं का हल निकाला जा सकता था, सड़क और नालियों का काम हो सकता था। मुझे नहीं लगता कि दिल्ली या पूरे में देश में कभी किसी को इतने निठ्ठले और कामचोर सांसद मिले होंगे। बजट का इस्तेमाल करने में बीजेपी के इन सांसदों का 33 फीसद ट्रैक रिकॉर्ट पूरे देश में सबसे कम रहा है। भाजपा ने अन्य राज्यों में भी कोई ज्यादा अच्छा काम नहीं किया है। गुजरात में बीजेपी के सारे सांसदों ने केवल 50 फीसद खर्च किया है, उन्होंने भी अपना आधा बजट ऐसे ही जाने दिया और ये सोचा कि हमें लोगों के काम करने की कोई जरूरत नहीं है। राजस्थान में भी जनता ने बहुमत से बीजेपी के सारे सांसद जिताए लेकिन वहां इन्होंने केवल 43 फीसद बजट खर्च किया। हरियाणा में आंकड़ा 46 फीसद का है। दिल्ली के सांसद आज पीछे से पहले नंबर पर आए हैं, ये दिल्ली के लोगों के भी संदेश देता है कि बीजेपी ने ठान लिया कि हमें दिल्ली के लोगों के लिए एक काम भी नहीं करना है। दिल्ली के लोग जीए या मरें उनके साथ जो भी हो हमें कोई परवाह नहीं है। अगर 124 करोड़ रुपए भी आएं तो वो भले ही व्यर्थ जाएं लेकिन हम केजरीवाल की तरह मोहल्ला क्लीनिक, स्कूल नहीं बनवाएंगे, सीसीटीवी कैमरे नहीं लगवाएं। वोट तो आ ही रहे हैं काम करने की क्या जरूरत है, हम तो सरकारी गाड़ी और सरकारी बंगले में ऐश करेंगे। यह दिल्ली के लोगों के लिए जानना बहुत जरूरी है कि बीजेपी के सांसद कभी भी उनके नहीं हैं, अगर बीजेपी के सांसद को जिताओगे तो वो केवल ऐश करेंगे, सुबह शाम गाली गलौच करेंगे, अनर्गल आरोप लगाएगें। लेकिन काम करने वाले केवल अरविंद केजरीवाल और उनके सांसद हैं।

देश की राजधानी होने के कारण जो दिल्ली के मुद्दं हैं वही राष्ट्र के मुद्दे हैं: पवन खेड़ा

दिल्ली को देश जा आईना  बताते हुए  कांग्रेस  के राष्ट्रीय स्तर के  नेता  जो  तत्कालीन शीला दीक्षित  दिल्ली सरकार  की नाहत्वपूर्ण कड़ी थे , का  मानना है कि देश की राजधानी होने की वजह से दिल्‍ली के जो मुद्दे होते हैंवह राष्‍ट्रीय मुद्दे होते हैं। आज अगर श्रमिकों की स्थितिझुग्‍गी-झोपड़‍ियों में रहने वाले हमारे भाई-बहनो की स्थिति दिल्‍ली में दयनीय हैतो आप समझ लीजिए कि यह प्रतिबिंब पूरे देश का है। पूरे देश में क्‍या हो रहा है पिछले 10 साल से वह दिल्‍ली को देखकर आभास हो जाता है। 

 

 

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो एवं न्याय यात्रा के दौरान हुए जनता से संवादों का  निचोड़ से। तैयार हुआ है कांग्रेस का चुनावी घोषणा पत्र । पिछले 10 साल से ऐसा लगता है कि दिल्‍ली को किसी की नजर लग गई। 15 साल दिल्‍ली ने पूरे विश्‍व में देश का नाम रोशन किया- मेट्रो आईइतने फ्लाई ओवर्स आएप्रदूषण रहित सार्वजनिक यातायात पूरा शुरू हुआपूरे विश्‍व ने अचंभे से देखा कि यह कैसे कायाकल्‍प हो गया दिल्‍ली का। शायद इसी वजह से दिल्‍ली को नजर लगी। जब से केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार आई हैऐसा लगता है कि वह दिल्‍ली से बदला लेना चाहती हैक्‍योंकि 1998 से लेकर आज तक दिल्‍ली ने भाजपा को फिर मौका नहीं दिया, 1993 में एक ही बार मौका दिया थाउसके बाद 1998, 2003, 2008, 2013, 2015, 2020 इतने चुनाव हो गए और भाजपा को दिल्‍ली ने मौका नहीं दियायह दर्शाता है कि भाजपा की पोल दिल्‍ली वालों की आंखों में खुल गई है और दिल्‍ली भाजपा की रग-रग से वाकिफ हैदिल्‍ली को भाजपा मूर्ख नहीं बना सकती। 

 

एक बदले की भावना से ओतप्रोत केंद्र सरकारजो बना-बनाया ढांचागत हमने व्‍यवस्‍था बनाई थीउसको छिन्‍न-भिन्‍न करने पर आमादा हैजो योजनाएं हम लाए थेअनाधिकृत कॉलोनियों पर विशेष तौर पर। मुझे याद है स्‍वर्गीय शीला जी चिंतित रहती थीं कि कैसे इनका हम नियमितीकरण करें और भागा-दौड़ी करके केंद्र सरकार से भी जद्दोजहद करकेअफसरशाही से जद्दोजहद करकेविशेषज्ञों से राय-मशवरा करके फिर हमने उनका नियमितीकरण कियासर्टिफिकेट्स बांटेमूलभूत सुविधाओं की तरफ वह प्रक्रिया शुरू कीलेकिन उन सब पर पहले अर्ध विराम लगा और अब पूर्ण विराम लग गया है। 

 

प्रधानमंत्री उदय योजनासुना होगा आपनेयहां का जीवन झुग्‍गी-झोपड़‍ियों मेंअनाधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले 70 प्रतिशत लोगों का जीवन,  उदय शब्‍दउनका इस्‍तेमाल उनके लिए करना भी उनका अपमान हैक्‍योंकि उनके जीवन में सूर्योदय होते हुए उन्‍होंने नहीं देखाअंधेरेमयी जिंदगी वह जी रहे हैं। जो धांधली उदय योजना में हो रही है रजिस्‍ट्री के नाम पर वह किसी से छिपी नहीं है।

 

तिलक नगर शोररूम फ़ायरिंग के मामले में पुलिस को मिली बड़ी सफलता

हिमांशु भाऊ - नवीन  बाली गैंग के एक सदस्य को  गिरफ़्तारी से पश्चिम दिल्ली के तिलक नगर स्थित  एक  कार के शोरूम में रंगदारी के लिए हुई फ़ायरिंग के मामले में दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल को मिली बड़ी सफलता । आभियुक्त के कब्जे से  6 जिंदा कारतूस, 1 पिस्तौल एवं 3 मोबाइल फोन बरामद हुए । आरंभिक जाँच से पता चला है कि अभियुक्त  इससे पहले चार आपराधिक मामलों में शामिल रह चुका है । वह गिरफ्तारी से बचने के लिए फ़रार चल रहा था । उसे  मुशक्कत के  बाद गिरफ्तार किया  गया । अभियुक्त फ़िलहाल हिरासत में है  एवं मामले पर तहकीकात जारी है ।

यदि इंडिया गठबंधन की सरकार बनती है तो 2 साल में मिलेगा दिल्ली को प्रदूषण से निजात: प्रॉ जयराम रमेश

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण का ठीकरा  केंद्र की बीजेपी शासित सरकार पर । पार्टी के  सार्वजनिक मंच से कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मंत्री प्रोफेसर जयराम रमेश ने पाँच बिंदुओं को लेकर केंद्र सरकार को  निशाने पर लिया और ये पाँच बिंदु हैं  पिछले 10 सालों में वायु प्रदूषण को लेकर कोई कार्यवाही नहीं हुई ।

दिल्ली एवं उसके आसपास के इलाकों में 11 कोयले से चलने वाले पॉवर स्टेशन हैं जो कि दिल्ली को ऊर्जा सप्लाई  करते हैं जिनमे से 9 स्टेशन 2009 में  निर्धारित मानदंडों को  ताक में रखकर चलाए जा रहे हैं । नतीजन दिल्ली वाले घुटन की ज़िंदगी जी रहे हैं। दिल्ली के तीन वेस्ट डिस्पोजल प्लांट हाजीपुर,ओखला एवं भलसवा केमिकल वेस्ट डिस्पोजल  दिल्ली वालों को जेहरीली गैस में जीने के लिए मजबूर हैं। 

अरावली रेंज में अवैध खनन एवं निर्माणाधीन गतिविधियों भी कुछ हद तक प्रदूषण के लिए ज़िम्मेवार हैं । दिल्ली एवं उसके आसपास के इलाक़ों में लगभग 350 ईटों के भट्टे हैं जो कि वही पुरानी पद्धति से चलाये जा रहे हैं और अंत में यमुना में  बढ़ता प्रदूषण जो किसी से छिपा नहीं है ।दिल्ली में 11 सीवरेज डिस्पोजल प्लांट बनाये जाने थे । मात्र 6 प्लांट हैं  जिनमे से 3 प्लांट काम कर रहे हैं । दिल्ली का 50 फ़ीसदी  पानी ट्रीट होकर यमुना में  जाता है बाकी एज़ इट इस यमुना में जाकर प्रदूषित करता है।  

उपरोक्त बिंदु दिल्ली को प्रदूषण की दृष्टि से  दूसरे शहर का दर्जा देते हैं । क्योंकि दिल्ली की कमांड बहुत हद तक केंद्र के पास  होने से ज़्यादा जवाबदेही केंद्र की होती है । पूर्व मंत्री का दावा है कि यदि इंडिया गठबन्धन की सरकार बनती है तो वे  2 साल में स्थिति को नियंत्रण में ले आयेंगे ।

महिला सांसद के साथ हुए दुर्व्यवहार पर अरविंद केजरीवाल की चुप्पी

अपनी ही पार्टी से राज्य सभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ हुई बदसलूकी पर खामोशी का रुख अख्तियार करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने साधा निशाना कहा कि  महिला सम्मान का उनके लिए  कोई  मायने नहीं रखता।

पत्रकारों को समाजवादी पार्टी के  कार्यालय में खींची गई एक  फोटो जिसमें केजरीवाल एवं बदसलूकी के आरोपी उनके वैभव कुमार की फोटो दिखाते हुए दागे चंद सवाल -

1 शीश महल याने कि  उनके आवास में हुई इस बदसलूकी पर उनका क्या रुख है?

2 जिसके ऊपर कार्यवाही की जानी थी वह उनके साथ क्यूं घूम रहा हैं?

3. उनके आवास पर हुआ यह दुर्व्यवहार क्या उनके इशारे पर हुआ था?

दिल्ली प्रदेश बिजेपी की महिला मोर्चे की अध्यक्षा ऋचा पांडे मिश्रा की अगुवाई में एक प्रतिनिधि मंडल के सांसद के आवास पर  समर्थन पत्र लेकर जाने के समाचार भी मिले हैं खबर है कि मामले पर पुलिस द्वारा एफआइआर दर्ज हो कर ली है ।

 

एक-एक रुपया बचा कर अपना घर चलाने वाली गृहणी का घरेलु बजट चौपट : रागिनी नायक

UPA कार्यकाल में जिस महंगाई को डायन’ कहते थेआज उसे डार्लिंग’ बना करगले में हाथ डाले घूम रहे हैं दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के सार्वजनिक मंच से पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता रागिनी नायक ने साधा निशाना कहा कि सूरत-ए-हाल ये है कि आज लोगों के पास थाली है तो खाना नहींडिग्री है तो नौकरी नहींवाहन है तो पेट्रोल-डीज़ल नहींसिलेंडर है तो LPG गैस नहींशौचालय है तो पानी नहींजीवन है पर सुख नहीं चैन नहीं। और जले पर नमक रगड़ने के लिए मोदी जी इसे अच्छे दिन’ और अमृतकाल’ बताते हैं।

 


एक कांग्रेस का शासन था जब बटुए में पैसा ले कर जाते थे और थैला भर सामान ले कर आते थे और अब भाजपा के शासन में वो समय आ ही गया जब थैले में पैसा ले कर जाएँ और बटुए में सामान लाएँ। मुझे याद है कि मोदी जी ने कहा था चीन को लाल आँख दिखाएँगे और 250₹ किलो तक पहुँच कर टमाटर जनता को लाल आँख दिखा रहा था। 80-100₹ किलो प्याज जनता को खून के आँसू रुला रही थी।


देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने तो प्याज की बढ़ती कीमतों से पल्ला झाड़ते हुए कह दिया था कि मैं तो प्याज नहीं खाती” यानि प्याज महंगी हो तो जनता प्याज खाना छोड़ दें। इसी तर्ज़ पर पेट्रोल-डीज़ल सेन्चुरी लगाए तो तो बैलगाड़ी चलाने लगें। LPG सिलेंडर 1100/- का हो जाए तो चूल्हा फूंकने लगें। करोड़ नौकरी जुमला साबित हो तो नाली की गैस से पकोड़ा तलने लगें। वैसे जानकारी के लिए बता दूं कि पकौड़े तलने का तेल भी 240₹ लीटर है। मोदी जी ने तो नौजवानों को इस लायक भी नहीं छोड़ा ! अभी मोदी जी मंगलसूत्र की बात कर रहे थे जब सोना 75,000 रुपए तोला कर दिया है मोदी जी ने तो कितनी माँ बहने सोने का मंगलसूत्र बनवा पा रही है अब बताइए कौन किसका मंगल सूत्र छीन रहा हैदेश में 35 सालों में सबसे ज्यादा महंगाई है। 45 सालों में सबसे ज्यादा बेरोज़गारी है। 75 सालों में रुपए में सबसे ज्यादा गिरावट है। कांग्रेस के कार्यकाल में जिन स्मृति ईरानी को 400₹ का सिलेंडर महंगा लगता था, 70₹ लीटर पेट्रोल महंगा लगता था वो आज दिल्ली में मिलने वाले 1100₹ के सिलेंडर और पेट्रोल पर मुँह में दही जमा कर बैठी हैं।


दूधदहीपनीरछाछ जैसी खाने पीने की चीज़ों से लेकर रोजमर्रा की जरूरी चीज़ों पर भी इस सरकार ने जीएसटी लगा दी है। विडंबना देखिएअस्पताल के बिस्तर पर 5 % जीएसटी है और हीरों पर 1.5 प्रतिशत। पिछले 7-8 वर्षों में मोदी सरकार ने पूंजीपतियों के 16 लाख करोड़ रुपए के लोन माफ़ किए। कॉर्पोरेट सेक्टर के लिए करीब 1.5 लाख करोड़ टैक्स की कटौती की गयी। और आम जनता से 27.5 लाख करोड़ रुपए इंधन टैक्स के रूप में वसूला गया।


साल भर में मोदी जी के मित्र उद्योगपतियों की आमदनी 30 लाख करोड़ तक बढ़ी है जबकि दूसरी तरफ़ देश के हर 10 में से परिवारों की आय में कमी आई है। CSDS - लोकनीति ने दिल्ली में एक सर्वे करवाया तो पता चला कि दिल्ली के 84% गरीबों की आय उनकी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त नहीं है। 75% गरीबों ने माना कि जरूरी खाद्य पदार्थों केगैस के और बिजली के दाम बढ़े हैं। 10 में से व्यक्तियों ने माना की पिछले वर्षों में मह्गाई बहुत बढ़ी है। 10 में से लोगों ने माना कि स्वास्थ्य तथा घर के किराए का खर्च बढ़ा है।

 

 

 

 

राहत फतेह अली खान और राशिद खान की म्युज़िक वीडियो तेरी गलियों में लांच

 
लिजेंड्री सिंगर राहत फतेह अली खान द्वारा गाया लेटेस्ट म्युज़िक वीडियो "तेरी गलियों में" मुम्बई के रेड बल्ब स्टूडियो में भव्य रूप से लांच किया गया। संगीतकार और वीडियो डायरेक्टर राशिद खान के इस खूबसूरत सॉन्ग को रमशा रिकार्ड्स द्वारा जारी किया गया है जिसे दर्शकों का खूब प्यार मिल रहा है। इंस्टाग्राम पर यह सॉन्ग ट्रेंड कर रहा है। सॉन्ग लांच के अवसर पर राहत फतेह अली खान ज़ूम के द्वारा मीडिया से रूबरू हुए। सेलिब्रिटी गेस्ट्स के रूप में लॉन्च के मौके पर बॉलीवुड के मशहूर निर्माता निर्देशक सुनील दर्शन और फ़िल्म भुज के डायरेक्टर अभिषेक दुढैय्या भी उपस्थित थे।
 
गाने के वीडियो में सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर तरुण नामदेव और सना सुल्तान खान ने अभिनय किया है। शकील आज़मी द्वारा लिखे गए गीत के निर्माता शिव कुमार और नूही खान हैं। ज़ूम पर इंटरव्यू देते हुए राहत फतेह अली खान ने कहा कि यहां मौजूद सभी मीडिया के लोगों को अपना सलाम पेश करता हूँ। यह गीत बहुत ही प्यारा है। गाते हुए भी मुझे अच्छा महसूस हुआ। राशिद खान को इतने खूबसूरत गाने के लिए मुबारकबाद पेश करता हूँ, उन्हें शुक्रिया भी कहूंगा। इसका वीडियो भी काफी अच्छा है।" 
पड़ोसी देश के कलाकार  क्या पुनः सरहद पार काम कर सकेंगे, इस सवाल पर राहत फतेह अली खान ने कहा कि देखिए अवाम आर्टिस्ट को चाहती है और उन्हें बहुत प्यार देती है। दोनों देशों के बीच रिश्ते अच्छे हुए तो फ़नकारों को उनके चाहने वालों तक पहुंचने में आसानी होगी। मैं अपने सभी फैन्स से कहूंगा कि ये गीत ज़रूर देखें सुनें।"संगीतकार और वीडियो डायरेक्टर राशिद खान ने कहा कि राहत फतेह अली खान के साथ हम पहले भी काम कर चुके हैं। उनके साथ मेरे काफी अच्छे रिश्ते हैं। उन्होंने हमें लाइव जॉइन किया और दुआएं दीं, यह बड़ी बात है। 
सॉन्ग के निर्माता शिव कुमार ने बताया कि पहली बार जब यह गीत सुना तो मेरे दिल को छू गया और इसे प्रोड्यूस करने का निर्णय लिया। यह मेरा पहला म्युज़िक वीडियो है और राहत फतेह अली खान की आवाज ने गाने को बुलंदी दे दी है। सोशल मीडिया स्टार सना सुल्तान खान ने काफी उत्साहित स्वर में कहा कि मैं खुद को लक्की मानती हूं कि मुझे राहत साहेब के गीत पर काम करने का मौका मिला है। तरुण ने मेरा बहुत साथ दिया। गाने के लिरिक्स और म्युज़िक कमाल के हैं। तेरी गलियों में आना जाना शुरू हो गया..इस लाइन से हर प्यार करने वाले कनेक्ट करेंगे।"

स्वाति मालीवाल के साथ सीएम आवास पर दुर्व्यवहार दिल्ली की महिला सुरक्षा पर प्रश्नचिन्ह

 
नई दिल्ली, 13 मई : दिल्ली भाजपा महामंत्री श्रीमती कमलजीत सहरावत एवं मंत्री सुश्री बांसुरी स्वराज ने आज एक संयुक्त संवाददाता सम्मलेन कर स्वाति मालीवाल के साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  के सहयोगी द्वारा किए गए दुर्व्यवहार की कड़ी निंदा की और कहा कि जब आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद एवं पूर्व में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा सी.एम. आवास में सुरक्षित नहीं है तो फिर दिल्ली की महिलाएं कैसे सुरक्षित हो सकती है।  सुश्री स्वाति मालीवाल जब महिला आयोग की अध्यक्षा रहते हुए इस बात का दावा करती रही कि वह दिल्ली में महिलाओं को सुरक्षित रखने का लगातार काम कर रही हैं, जब वह महिला सी.एम. कार्यालय गाड़ी से जाती हैं पर घबराई हुई स्थिती में पैदल बाहर निकलती है तो यह काफी शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि उन्होंने पीसीआर में कॉल किया और अभी वह ट्रेसेबल नहीं है, इससे समझा जा सकता है कि उनके ऊपर कितना दवाब है। 
 
पार्टी की महामंत्री  का  मानना है कि  मुख्यमंत्री केजरीवाल दिल्ली की महिलाओं की सुरक्षा की बात करते  थे, आज उनके घर के अंदर ही महिला के साथ बदतमिजी शर्मनाक है। इस तरह के विषय इससे पहले भी हो चुके हैं और एक महिला होने के नाते मैं इस घटना की कड़ी निंदा करती हूं और दिल्ली पुलिस से गुजारिश है कि इस घटना की जांच जल्द कर इसका खुलास करे।
 
सुश्री बांसुरी स्वराज के अनुसार एक महिला पर हाथ उठाना और उनके साथ दुर्व्यवहार करना काफी शर्मसार करने की बात है और यह दुर्व्यवहार है कि अधिकारिक कार्यालय में इस तरह की घटना का होना बेहद ही दुखद है।  राजनीतिक विचारधारा को दरकिनार करते हुए भारतीय जनता पार्टी और खासकर पार्टी की महिला कार्यकर्ता होने के कारण केजरीवाल से इस बारे में हम स्पष्टिकरण मांगते हैं। सुश्री  स्वाति मालीवाल को डी. सी.डब्ल्यू. का अध्यक्ष बनाया गया और जिन्हें जिम्मेदारी दी गई थी कि महिलाओ के साथ हो रहे दुर्व्यवहार के लिए आवाज उठाने की आज उसी के साथ ऐसी घटना को अंजाम दिया गया। यह पहली बार नहीं है जब इस तरह की घटना सामने आई है इससे पहले भी दिल्ली की चीफ सेक्रेटरी के साथ मारपीट की घटना सामने आ चुकी है। यह केजरीवाल की एक रिवायत बन गई है कि जब भी उनकी पार्टी की महिला विरोधी गतिविधियां मीडिया मे आती है तो वह मौन धारण कर लेते हैं। 
 
पार्टी के दिल्ली प्रदेश प्रभारी प्रवीण शंकर कपूर  का भी कहना है कि पिछले सात से आठ सालों में सुश्री स्वाति मालीवाल कहती रही कि महिलाओं को विसल ब्लोअर बनना चाहिए और आज उन्होंने अपनी घटना की शिकायत की पुलिस काल की पर फिर चुप हैं। दिल्ली की नागरिकों की ओर से अपिल है कि इस घटना को आगे बढाते हुए पुलिस को बयान दीजिए ताकि दिल्ली की लाखों महिलाओं को हिम्मत मिले

हाथ बदलेगा हालात जुड़ेंगे दिल्ली के जज्बात: देवेंद्र यादव

इस बार की दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की चुनावी रणनीति लीक से जरा हटकर है । पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्र यादव के अनुसार काग्रेस कार्यकर्ता और बूथ एजेंट दिल्ली के सभी 13630 बूथों पर 1 करोड़ 47 लाख मतदाताओं को सीधा सम्पर्क साधकर कांग्रेस के 5 न्याय और 25 गारंटी की जानकारी दे रहे हैं।

उनका मानना है कि राजनैतिक संगठन की रीढ़ की हड्डी उसका ‘बूथ’ होता है,  बूथ जितना मजबूत होगा, चुनाव उतनी ही ताकत से लड़ा जा सकेगा। प्रदेश कांग्रेस की बूथ मेनेजमेंट टीम दिल्ली के सभी 13630 बूथों पर 1 करोड़ 47 लाख मतदाताओं को सीधा सम्पर्क साधने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं पहचान करके उन्हें ट्रेनिंग देने का काम जारी है और बीएलए की पहचान करके उन्हें सत्यापित करने का काम चल रहा है इसके लिए हमने ट्रेनिंग टीमों गठन किया है। कंट्रोल रुम भी बनाया गया है। 3 विधानसभाओं पर 15-15 टीम रखी है जो पहचान किए गए कार्यकर्ताओं और बीएलए एजेंट द्वारा कांग्रेस पार्टी की 5 न्याय और 25 गारंटी कार्ड को घर-घर पहुॅचाने के काम पर निगरानी रखेंगे। 3-3 सोशल मीडिया और मीडिया की टीम बनाई जो मीडिया की जानकारी कि कौनसी पार्टी क्या गतिविधियां है इस पर नजर रखेंगी। लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन के उम्मीदवारों के प्रचार प्रसार की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। चुनाव में बेहतर तालमेल के लिए कोआर्डिनेशन कमेटी और कंट्रोल रुम का समन्वय भी बनाकर रखे हुए है। एक काल सेंटर भी स्थापित किया है जिसमें प्रत्येक लोकसभा पर 70-70 लोग भी रखे गए है, जो बूथ कमेटी द्वारा किए गए काम और मतदाताओं से बात करके लोगों की भावनाओं को जानेंगे और हमारे काम का कितना असर जनता पर है इस पर भी नजर रखेंगे।

बूथ लेवल पर प्रशिक्षण शिविर के लिए 10 ट्रेनिंग टीम काम कर रही है जो 8-10 दिन में कार्यकर्ता की पहचान करके उन्हें ट्रेंड करने का काम करेंगे। पिछले दो दिनों से ट्रेनिंग का काम चल रहा है।  ट्रेनिंग टीम अगले 5 दिनों में सभी विधानसभाओं में बीएलए का प्रशिक्षण शिविर में ट्रेनिंग का काम पूरा कर लेंगी। इसका काम पहले हम तीन लोकसभा जहां कांग्रेस उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे है, उन विधानसभाओं में ट्रेनिंग दी जाऐगी उसके बाद बाकी चार लोकसभाओं में ट्रेनिंग देंगे जहां इडिया गठबंधन के उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे है। इस पूरी कार्यवाही पर मैं व्यक्तिगत रूप से नजर रखे हुए हूँ।

 मोदी जी और भाजपा ने नफरत और भटकाने की राजनीति करके स्पष्ट कर दिया है। वह धर्म, जाति, वर्ग और समुदाय के लोगों को एक दूसरे के प्रति भड़का कर अपना राजनीतिक एजेंडा पूरा कर रही है। पिछले 10 साल की उनकी जुमलेबाजी ने भी जनता को यकीन दिला दिया है कि ‘मोदी की गारंटी’ नही ‘मोदी की नौटंकी’ चल रही है क्योंकि वो मन की बात तो करते है परंतु जनता के मन की बात पर कोई चर्चा नही कर रहे हैं।  परंतु कांग्रेस पार्टी अपने अध्यक्ष श्री मल्लिकार्जुन खड़गे जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में नौजवानों, महिलाओं, किसानों, श्रमिकों, दलित, पिछड़े, अल्पसंख्यक व समाज के वंचित वर्गों को मजबूत बनाने और उन्हें प्रयाप्त हिस्सेदारी देने के लिए ‘5 न्याय और 25 गारंटी’ पर चुनाव लड़ रही है। ’महालक्ष्मी’, ‘भर्ती भरोसा’, ‘गिनती करो’ जैसी योजनाओं के चलते भारत और दिल्ली के हर वर्ग का सशक्तिकरण सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र ‘न्याय संकल्प पत्र’ में निहित 5 न्याय और 25 गारंटियों को जानकारी को दिल्ली के जन-जन तक पहुँचाने के लिए ‘घर-घर गारंटी’ कार्यक्रम पूरे जोर-शोर से चल रहा है, जिसकी शुरुआत हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय मल्लिकार्जुन खड़गे जी ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली लोकसभा में घोंडा विधानसभा से की थी। कांग्रेस के सिपाही दिल्ली की सातों सीटों पर घर-घर जा कर महिला न्याय’, ‘युवा न्याय’, ‘किसान न्याय’, ‘श्रमिक न्याय’ और ‘हिस्सेदारी न्याय’ की जानकारी दे रहे हैं।

देशऔर दिल्ली के ज्वलंत मुद्दों पर, प्रभावित वर्ग की समस्याओं उनकी मुँह जुबानी सुनने, समझने और समाधान खोजने के लिए ‘Townhall’ का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें स्वयं ‘राहुल गांधी’ जी हिस्सा लेकर देश के लोगों की परेशानियों से रुबरु होकर देशवासियों को मौजूदा हालात बदलने का विश्वास दिला रहे है। उन्होंने कहा कि राहुल जी ने दिल्ली कांग्रेस को आश्वासन दिया है कि दिल्ली में आयोजित होने वाले ‘Townhall’ कार्यक्रम में आऐंगे और उनमें दिल्ली के मुददों महंगाई, बेरोजगारी, जीएसटी, रेहड़ी पटरी, प्रदूषण, महिला सुरक्षा, कानून व्यवस्था, जेजे कलस्टर, पुनर्वास कालोनी, अनाधिकृत कालोनियों के मालिकाना हक जैसी जनता से जुड़ी समस्याओं के हल निकालने पर चर्चा करेंगे। श्री यादव ने बताया कि दिल्ली में कई जगह ‘Townhall’ कार्यक्रम का आयोजन किया जाऐगा। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया, प्रचार के नए तरीकों, आनलाईन प्रचार के अलावा कांग्रेस पार्टी चुनाव प्रचार के पारंपरिक तरीकों द्वारा भी नुक्कड़ सभाओं और बड़ी जनसभाओं और रोड शो हर लोकसभा में आयोजित करेगी, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष श्री मल्किार्जुन खड़गे जी, श्री राहुल गांधी जी, श्रीमती प्रियंका गांधी जी सहित केन्द्रीय नेतृत्व के बड़े नेता भी शामिल होंगे।

बादली विधानसभा में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस ने कीबीएलए-2 के प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत

 
नई दिल्ली, 12 मई, 2024- दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष श्री देवेन्द्र यादव ने कहा कि कांग्रेस पार्टी एवं इंडिया गठबंधन का एक-एक कार्यकर्ता भाजपा की तानाशाही के खिलाफ आवाज उठाए व अपनी मजबूत कार्यशैली के अनुरुप प्रत्येक बूथ के सभी मतदाताओं से सम्पर्क स्थापित करके उन्हें कांग्रेस पार्टी के 5 न्याय और 25 गारंटी की पूरी जानकारी उन तक पहुॅचाएं। पूरी कर्मठता और निष्ठा के साथ प्रचार प्रसार करके  अपने बूथ को जिताने के लिए कार्य करेंगे, तो दिल्ली में इंडिया गठबंधन के लोकसभा उम्मीदवार चुनाव आपकी मेहनत से जीतेंगे।
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष श्री देवेन्द्र यादव ने बादली विधानसभा में बीएलए-2 के प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत की। श्री देवेन्द्र यादव ने दिल्ली कांग्रेस बूथ मेनेजमेंट कमेटी द्वारा आयोजित प्रशिक्षण शिविर की प्रशिक्षण टीम और प्रशिक्षण लेने पहुॅचे बीएलए का स्वागत किया और उन्हें संदेश दिया कि सभी विधानसभाओं में बीएलए-2 प्रत्येक बूथ को मजबूत बनाने की अहम कड़ी है जो जनता के पास पार्टी के विजन को सीधा पहुॅचाते है। उन्होंने कहा कि अगले सात दिनों में सभी विधानसभाओं में बीएलए प्रशिक्षण शिविर आयोजित किए जाऐंगे। उन्होंने कहा कि सभी बूथ पर कांग्रेस कार्यकर्ता मजबूती से काम करेंगे और वह गठबंधन के सातों उम्मीदवारों को भारी बहुमत से जीत दिलाकर भेजेंगे।
प्रशिक्षण शिविर का आयोजन बूथ मैनेजमेंट कमेटी के चेयरमैन राजेश गर्ग ने किया और बीएलए को प्रशिक्षण श्री अरुण गर्ग ने दिया। प्रशिक्षण शिविर में पूर्व जिला अध्यक्ष श्री इंद्रजीत शौकीन, पूर्व पार्षद धर्मवीर यादव और जय प्रकाश राणा, बादली आब्र्जवर इंदिरा मीना, निगम उम्मीदवार अजय यादव और अशोक यादव, अनिल राणा नीले पहलवान मुख्य रूप से शामिल थे।
श्री देवेन्द्र यादव ने कहा कि प्रशिक्षण शिविर में बूथ लेवल एजेंट को लोकसभा चुनाव में किस तरह पार्टी उम्मीदवार के लिए प्रचार प्रसार करना है, किस प्रकार घोषणा पत्र में दी गई जानकारी को प्रत्येक बूथ पर सभी मतदाताओं तक पहुॅचाना है, हर प्रकार की ट्रेनिंग दी जाऐगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली के सभी 13630 बूथ पर कांग्रेस कार्यकर्ता इंडिया गठबंधन के उम्मीदवारों विजय दिलाने के लिए घर-घर जाकर दिल्ली की जनता से सम्पर्क करके कांग्रेस पार्टी के घोषणा पत्र न्याय संकल्प में किए गए वादों ओर योजनाओं को जन-जन तक पहुॅचाऐंगे। प्रशिक्षण शिविर में कैसे वोटर लिस्ट चेक करनी है, पोलिंग वाले दिन ईवीएम मशीन की निगरानी कैसे रखनी है, बूथ के अंदर और बाहर बैठने वाले बूथ एजेंट को क्या-क्या काम करना है और किसी प्रकार की गड़बड़ या संदेह होने पर क्या कार्यवाही करनी है इन सभी विषयों की प्रशिक्षण शिविर में जानकारी दी गई।
श्री देवेन्द्र यादव ने कहा कि बीएलए कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस की न्याय गारंटी के प्रचार के साथ-साथ जनता से जुड़े ज्वलंत मुद्दे महंगाई, बेरोजगारी, रोजमर्रा की वस्तुओं के दामों दोगुनी चैगुनी बढ़ोत्तरी, गैस, पेट्रोल, डीजल की दरों की बढ़ोत्तरी से परेशान जनता को बताना है कि कैसे पिछले 10 वर्षों में महंगाई के सभी रिकार्ड तोड़ दिए है और बेरोजगारी का औसत पिछले 45 वर्षों में सबसे अधिक पहुॅच गया है।
श्री राजेश गर्ग ने कहा कि पिछले कई महीनों से बूथ मैनेजमेंट कमेटी दिल्ली के सभी बूथों पर संगठन को मजबूत बनाने का काम कर रही है। हर बूथ पर हमने कमेटी बनाकर बीएलए नियुक्त किए है। बूथ कमेटी घर-घर जाकर लोकसभा उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार प्रसार करेगी और बीएलए कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए काम कर रहे है।  

‘‘आप’’ ने साइकिल रैली निकाल दिल्लीवालों से की तानाशाही के खिलाफ वोट करने की अपील

 
आम आदमी पार्टी छात्र युवा संघर्ष समिति ने राउज एवेन्यू स्थित पार्टी मुख्यालय से ‘जेल का जवाब वोट से’ कैंपेन के तहत साइकिल रैली निकाली। ‘‘आप’’ के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल और नई दिल्ली लोकसभा से इंडिया गठबंधन के प्रत्याशी सोमनाथ भारती ने यहां पहुंचकर युवाओं का हौसला बढ़ाया। ‘जेल का जवाब वोट से’ लिखी टी-शर्ट और टोपी पहन कर साइकिल पर सवार युवाओ ने केंद्र से तानाशाह सरकार को हटाने के लिए दिल्ली की जनता को जागरूक किया। इस दौरान गोपाल राय ने कहा कि आम आदमी पार्टी विभिन्न तरीक़ों से भाजपा की तानाशाही के खिलाफ जनता के बीच जा रही है। इस बार देश के संविधान और लोकतंत्र को बचाने के लिए भाजपा की तानाशाही को खत्म करना बेहद जरूरी है।
 
गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के अंदर आम आदमी पार्टी भाजपा की तानाशाही के खिलाफ अलग- अलग तरीकों से जनता के बीच लगातार कैंपेन चला रही है। पहले हम लोगों ने वॉकाथॉन के माध्यम से लोगों के बीच अपने प्रचार अभियान को आगे बढ़ाया और आज फिर भी साइकल्थॉन के माध्यम से जनता के बीच मे संदेश पहुंचा रहे हैं कि इस बार देश को बचाने के लिए भाजपा की तानाशाही को खत्म करना बेहद जरूरी है। संविधान और लोकतंत्र को बचाना जरूरी है। साइकल्थॉन के माध्यम से यह टीम संविधान और लोकतंत्र बचाने का संदेश लेकर गई। 
 
इस दौरान नई दिल्ली लोकसभा से इंडिया गठबंधन के प्रत्याशी सोमनाथ भारती ने कहा कि अब दिल्ली का हर व्यक्ति कह रहा है कि सातों सीटें इंडिया गठबंधन को जाएंगी। दिल्ली के लोग कह रहे हैं कि भाजपा ने संविधान और लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई है। एक सिटिंग मुख्यमत्री को बिना सबूत के भाजपा ने उठाकर जेल में डाल दिया। केजरीवाल को जेल में डालकर भाजपा यह सिद्ध करना चाहती है कि वो लोकसभा चुनाव में अपनी हार को देखकर बहुत डरी हुई है। संविधान की धज्जियां उठाने का संज्ञान सुप्रीम कोर्ट ने लिया कि लोकतंत्र के अंदर कुछ तो लेवल प्लेइंग फील्ड करो। केजरीवाल को जेल से बाहर आने के बाद पूरे देश में संदेश गया है कि अभी भी कोई संस्था है जो देश के लोकतंत्र और संविधान के लिए चिंतित है।
 
उधर, साइकिल रैली को लेकर युवा नेता वंदना सिंह ने कहा कि ‘‘आप’’ छात्र युवा संघर्ष समिति ने पार्टी मुख्यालय से लेकर इंडिया गेट तक अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के समर्थन में साइकिल रैली निकाली। एक आईआईटी इंजीनियर और आईआरएस अपना सबकुछ दांव पर लगाकर कई साल झुग्गियों में काम करके दिल्ली और देश के लोगों की आवाज उठाकर दिल्ली का मुख्यमंत्री बना। दिल्ली का मुख्यमंत्री बनने के बाद अरविंद केजरीवाल ने लोगों की भलाई के लिए काम कर रहे थे। केजरीवाल लोगों को फ्री बिजली, पानी, इलाज और महिलाओं के लिए बस में सफर का इंतजाम किया। ऐसे मुख्यमंत्री को केवल कुछ झूठे बयानों के आधार पर जेल में डाल दिया गया। एक सिटिंग मुख्यमंत्री को चुनाव के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया। यह देश के लोकतंत्र के साथ बहुत बड़ा धोखा है। देश का युवा और छात्र अरविंद केजरीवाल के साथ खड़े हैं। हम देश के लोकतंत्र और संविधान को बचाने के लिए अंतिम सांस तक लड़ेंगे।

श्री हजूर अबचल नगर साहिब अधिनियम 2023 सीधा सिख धर्म में हस्ताक्षेप: बीबी रणजीत कौर

 नई दिल्ली, 10 मई: महाराष्ट्र की एकनाथ सिंधे सरकार ने तख्त श्री हजूर साहिब के प्रबंधन को संभालने के लिए गुरुद्वारा बोर्ड के काम को फिर से चलाने के लिए 1956 के अधिनियम को बदलने के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है व तख्त सचखंड श्री हजूर अबचल नगर साहिब अधिनियम 2023 बनाया है को  सीधे तौर पर सिख पंथ के धर्म में हस्तक्षेप मानते हुए शिरोमणि अकाली दल की दिल्ली इकाई की महिला विंग की मुख्य सेवादार बीबी  रणजीत  कौर  ने  व्यक्त की तीखी प्रतिक्रिया कहा कि यह। असहनीय है। मौजूदा सरकार एक तरफ खुद को सिखों का हिमायती बता रही है तो दूसरी तरफ अपने छुपे एजेंडे के तहत सिख पंथ के गुरुघरों पर कब्जा करने की साजिश रच रही है।  जिस प्रकार एक सोची-समझी साजिश के तहत एक धर्म के लोगों के धार्मिक स्थलों को तोड़ा जा रहा है। उसी प्रकार हमारे गुरुधामों को भी सरकार के अधीन करने की साजिश चल रही है। उन्होंने गुरुद्वारा डांगमार साहिब, हरि की पौढ़ी और सिख पंथ के अन्य गुरुद्वारा साहिबों पर कब्जा कर लिया है और दूसरी तरफ दिल्ली कमेटी और कब्जाधारी प्रबंधक मुँह में ऊँगली डालकर इन मुद्दों से दूर रहते हैं.  श्री अकाल तख्त और सिख पंथ के सभी धार्मिक और राजनीतिक संगठनों को एक साथ आकर इसका विरोध करना चाहिए नहीं तो हमारी चुप्पी हमारे गुरुधामों के लिए खतरनाक होगी। नए अधिनियम में सरकार द्वारा नामित 7 सदस्यों की संख्या को बढ़ाकर 12 किया जा रहा है. नए अधिनियम के अनुसार, अब 17 सदस्यीय बोर्ड में 12 सदस्य सरकार द्वारा नामित होंगे, 3 सदस्य निर्वाचित होंगे और 2 सदस्य शिरोमणि कमेटी द्वारा नामित किया जाएगे।

सुपर एक्शन पंजाबी फिल्म जे जटा विगड़ गया 17 मई को होगी रिलीज

अगर आप अच्छी पंजाबी फिल्मों के शौकीन है और पंजाबी फिल्मों के सुपर स्टार है और जय रंधावा के फैन है आने वाला शुक्रवार यानी 17 मई आपके लिए बेहद खास है क्योंकि इस दिन जय स्टारर फिल्म जे जटा विगड़ गया ऑल इंडिया में रिलीज हो रही है।
 
आम तौर पर पंजाबी फिल्मों के मेकर अपनी फिल्म को पंजाब और चंडीगढ़ में प्रमोट करते है लेकिन फिल्म के डायरेक्टर और फिल्म के हीरो जय रंधावा के साथ फिल्म के निर्माताओं को अपनी इस फिल्म की कहानी और अपनी मेहनत पर इस कदर विश्वास है कि यह सभी अपनी फिल्म को दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में प्रमोट करने आए और यही हमारी मुलाकात फिल्म की लीड जोड़ी , डायरेक्टर और फिल्म के मेकर्स से हुई , आइए जानते है क्या खास है इस फिल्म में।
इस फिल्म के निर्देशक  मनीष भट्ट पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री में एक जाना पहचाना नाम है उनकी कई फिल्मे टिकट खिड़की पर सुपर हिट रही अब पंजाबी फिल्मों के सुपर स्टार जय रंधावा और दीप सैगल के साथ पवन मल्होत्रा जैसे मंझे हुए स्टार्स को लेकर जे जटा विगड़ गया लेकर दर्शको के बीच आए है । पिछले दिनों इस फिल्म के ट्रेलर ने यू ट्यूब सहित सोशल मीडिया पर छा गया, लाखो सिने प्रेमियों द्वारा इस फिल्म के ट्रेलर को सराहा गया। फिल्म के हीरो जय रंधावा इस फिल्म के बारे में कहते है  मेरी यह फिल्म एक ड्रामा, एक्शन और कामेडी और ऐसी  पारिवारिक फिल्म है जो दर्शको की हर क्लास को पसंद आएगी, फिल्म की मेकिंग में मेकर्स ने दिल खोल कर पैसा लगाया , जय कहते है फिल्म के एक्शन सींस साउथ और बॉलीविड फिल्मों को टक्कर देते है, इन दिल दहला देने वाले एक्शन सींस को शूट करने में मैने बॉडी डबल का प्रयोग नहीं किया कुछ ज्यादा ही सुरक्षा रूल फॉलो किए इसी का नतीजा है कि इसके एक्शन सीन फिल्म की यूएसपी है। फिल्म में जय दिलेर के किरदार में है जो अपने नाम की तरह दिलेर होने के साथ सभी का प्यारा है , दिलेर की फैमिली पर जब मुसीबत आती है तो वह ऐसा प्रचंड रूप दिखाता है कि  दुश्मन थर थर कांपना शूरु कर देते है, जय कहते है यह फिल्म एक ऐसा पॉजिटिव मेसेज भी देती है जो आज के माहोल में फिट है। शूटर , मेडल जैसी कई सुपर हिट फिल्मों से अपनी अलग पहचान बना चुके जय रंधावा के साथ दीप सैगल है बॉक्स ऑफिस पर सुपर हिट फिल्म गुल्लक, बुगनी, बैंक ते बटुआ से अपनी खास पहचान बना चुकी दीप कहती है मेरी यह फिल्म अपनी सम्मोहक दिल को छू लेने वाली कहानी और शक्तिशाली एक्शन के साथ रोमांस आदि मसालों से भरी ऐसी फिल्म है जिसे आप अपनी पूरी फैमिली और दोस्तों और अपनी फ्रेंडस के साथ देखने आए आप अपसेट नहीं होंगे फिल्म के सभी कलाकारों ने पूरी ईमानदारी और पूरी मेहनत के साथ इस फिल्म को बनाया है । जय रंधावा और दीप दोनों ने ही मुझ से बातचीत करते हुए  उत्साह भरे शब्दों के साथ कहा, "जे जटा विगड़ गया"
' जैसी बेहतरीन फिल्म का हिस्सा बनना हमारे लिए एक अविश्वसनीय यात्रा रही है। फिल्म की मनोरंजक स्टोरी और इसे परदे पर खूबसूरती के साथ पेश करने में पूरी यूनिट की मेहनत लगन का नतीजा है यह फिल्म इसे आप सभी अपने नजदीकी सिनेमा में अवश्य देखने जाए।

सिख की मांगों को पूरा करने का वादा करने वाले ही सिख वोटों के हक़दार होंगे: सरना

 राजधानी में वोटिंग के लिए लगभग 20 दिन बचे हैं, दिल्ली से अकाली दल के प्रधान सरदार परमजीत सिंह सरना ने स्पष्ट किया है कि सिर्फ वही सियासी पार्टी या उम्मीदवार को सिख समर्थन देंगे जो सिख कौम की मांगों को पूरा करने का वादा स्पष्ट तौर पर करेंगे।
 
दिल्ली पंजाब से बाहर किसी भी शहर में सिखों की सबसे अधिक आबादी वाला घर है।सरना ने भाईचारे की मांगों को निम्नलिखित अनुसार सूचीबद्ध किया:
1) तीस सालों से जेल में बंद रहने वाले बंदी सिंहों ने बहुत लंबे समय से बेइंसाफी का सामना किया है। यह आवश्यक है कि नई सरकार बनने पर उन्हें न्याय दिया जाए और उन्हें रिहा किया जाए।
2) किसान हमारे देश की रीढ़ की हड्डी है। देश भर के किसान अपनी मांगों की आवाज़ उठा रहे हैं। यह जरूरी है की औधा सभलने के बाद, नई सरकार को उनकी शिकायतों को सर्गरमी सुनकर इन मुद्दों का समाधान करे। किसानों को किसी भी लालच के बिना किसी भी देश या क्षेत्र को अपनी उपज बेचने की इजाज़त दी जानी चाहिए।
3) श्री ननकाणा साहिब सिख कौम के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। हर सिख इसके दर्शन के लिए सुबह-शाम अर्दास करता है। नई सरकार के कार्यकाल में सिखों को श्री ननकाणा साहिब के दर्शन के लिए वीज़ा ऑन अराइवल दिया जाना चाहिए।
4) सिखों के धार्मिक मामलों में केंद्र या राज्य सरकारों द्वारा किसी भी दखल-अंदाज़ी नहीं की जाएगी, जैसे कि दिल्ली, तख़्त श्री पटना साहिब और श्री हज़ूर साहिब में हाल ही में कुछ महीनों और कुछ सालों में हुआ है।
 अंत में, हम दिल्ली के सूझवान सिखों को अपील करते हैं कि 'देश में चल रहे आम चुनावों के दौरान कॉमी हित, किसानी, युवा और पंजाब के अच्छे-बुरे का विचार करके दिल्ली के सिख समुदाय की भावनाओं की अनुवाद करने के लिए अपने वोट का भुगतान करने से पहले गुरु पातशाह द्वारा दी गई विवेक बुद्धि का उपयोग करें। ताकि सिखी सिधांतों पर चलते हुए डर और नफ़रत रहित समाज और देश की तरक्की का मनुष्यता की रोशनी में टीका पूरा किया जा सके। 

विषय चुनाव का नहीं अब भारत के अस्तित्व का है : सुधांशु त्रिवेदी

 सेम पितरोडा की  विवादास्पद टिप्पणी को लेकर केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर एवं  भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने साधा कांग्रेस पर निशाना कहा कि विषय चुनाव का  नहीं  अब भारत के अस्तित्व का हो गया है । सेम पितरोडा  की टिप्पणी  "भारत की विविधता एवं लोकतंत्र राम मंदिर , राम नवमी एवं मोदी जी  के बार बार राम मंदिर जाने से  प्रभावित हो गया है ", कहा कि  कांग्रेस की कमांड विदेशियों के पास आने से  उत्तर , दक्षिण, पूर्व  और पश्चिम लोगों मैं विदेशी मूल तलाशने की क़वायद शुरू हो गई है । लगता है कांग्रेस की मांसिकता भारत को अंदर से तोड़ने और विदेश से जोड़ने की हो गई है ।

सेम पितरोड़ा राहुल गांधी के मार्गदर्शक होने के साथ  इंडियन ओवरसीज़ कांग्रेस के चेयरमेन भी हैं ।

संपादक

डा. अशोक बड़थ्वाल

Mobile : 91-9811440461

editor@dhanustankar.com

Slideshow

समाचार

1 - दिल्ली में मतदान की दर 53.63 फ़ीसदी

2 - बंग भवन के सामने भाजपा ओबीसी मोर्चे ने किया ममता का पुतला दहन

3 - अब यह मतदाता के ऊपर है कि वह नेशन फर्स्ट की थ्योरी के साथ है या फिर परिवारवाद के

4 - स्पोर्टस ड्रामा फिल्म में बॉलीवुड स्टाइल रोमांस का तड़का - मिस्टर & मिसेज माही

5 - संजय सिंह के बयान को एक फिल्मी स्क्रिप्ट : वीरेंद्र सचदेवा

6 - सांसद निधि का 66 फ़ीसदी हिस्से से ज्यादा नहीं हो पाया दिल्ली पर खर्च: जस्मीन शाह

7 - देश की राजधानी होने के कारण जो दिल्ली के मुद्दं हैं वही राष्ट्र के मुद्दे हैं: पवन खेड़ा

8 - तिलक नगर शोररूम फ़ायरिंग के मामले में पुलिस को मिली बड़ी सफलता

9 - यदि इंडिया गठबंधन की सरकार बनती है तो 2 साल में मिलेगा दिल्ली को प्रदूषण से निजात: प्रॉ जयराम रमेश

10 - महिला सांसद के साथ हुए दुर्व्यवहार पर अरविंद केजरीवाल की चुप्पी

11 - एक-एक रुपया बचा कर अपना घर चलाने वाली गृहणी का घरेलु बजट चौपट : रागिनी नायक

12 - राहत फतेह अली खान और राशिद खान की म्युज़िक वीडियो तेरी गलियों में लांच

13 - स्वाति मालीवाल के साथ सीएम आवास पर दुर्व्यवहार दिल्ली की महिला सुरक्षा पर प्रश्नचिन्ह

14 - हाथ बदलेगा हालात जुड़ेंगे दिल्ली के जज्बात: देवेंद्र यादव

15 - बादली विधानसभा में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस ने कीबीएलए-2 के प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत

16 - ‘‘आप’’ ने साइकिल रैली निकाल दिल्लीवालों से की तानाशाही के खिलाफ वोट करने की अपील

17 - श्री हजूर अबचल नगर साहिब अधिनियम 2023 सीधा सिख धर्म में हस्ताक्षेप: बीबी रणजीत कौर

18 - सुपर एक्शन पंजाबी फिल्म जे जटा विगड़ गया 17 मई को होगी रिलीज

19 - सिख की मांगों को पूरा करने का वादा करने वाले ही सिख वोटों के हक़दार होंगे: सरना

20 - विषय चुनाव का नहीं अब भारत के अस्तित्व का है : सुधांशु त्रिवेदी

21 - पंजाबी-हरियाणवी क्रॉस कल्चरल फिल्म कुड़ी हरियाणे वल दी/छोरी हरियाणे आली का पहला लुक लॉन्च

22 - झूठे, बेतुके और भ्रामक बयान देने के लिए माफी मांगें या मानहानि के मुकदमे के लिए तैयार रहें

23 - पाँच साल उदित राज बनाम पाँच साल हंसराज हंस के मुद्दे पर लड़ेंगे उदित राज चुनाव

24 - श्रद्धा और प्रेम के बीच मंदाकिनी बोरा की आवाज का जादू राम को लाने वाले आयेंगे

25 - मरघट वाले बाबा के मंदिर में पूजा कर दाखिल किया जयप्रकाश अग्रवाल ने नामांकन

26 - लवली सहित दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के पाँच दिग्गज नेता भाजपा में शामिल

27 - गुरुद्वारा श्री रातगढ़ साहिब में गुरुग्रंथ साहिब की तलाशी पर सरना ने व्यक्त की तीखी प्रतिक्रिया

28 - विजय संकल्प एवं आशीर्वाद के साथ। नामांकन रैली में उमड़ा जन। सैलाब

29 - पंथक के नेता फ़िरकापरस्ती से बाज आयें

30 - पूर्व न्यायाधीश कृष्ण मुरारी ने किया महऋषि अरविंद के जीवन दर्शन पर आधरित पुस्तक का विमोचन

31 - चुनाव से पहले और चुनाव के बाद भी घर घर लेकर जायेंगे मोदी की गारंटी 2024 : प्रवीन खंडेलवाल

32 - दिल्ली एनसीआर के 100 स्कूलों को मिली बम होने की हॉक्स मेल

33 - तिरिछ हालात के मारे इंसान की तस्वीर