नई दिल्ली 20, Jul 2024

लेख

1 - एक बार फिर तीसरी पारी खेलेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी

2 - केजरिवाल के जमानत पर रिहा होने पर शुरु हुई नई कवायदें

3 - मतदान की दर धीमी आखिर माजरा क्या

4 - क्यूं चलाना चाहते हैं केजरीवाल जेल से सरकार

5 - 2004-14 के मुकाबले 2014-23 में वामपंथी उग्रवाद-संबंधित हिंसा में 52 प्रतिशत और मृतकों की संख्या में 69 % कमी

6 - कर्तव्य पथ दिखी शौर्य की झलक

7 - फ़ाइनली राम लल्ला अपने आशियाने में हो गये हैं विराजमान

8 - राजस्थान का ऊँट किस छोर करवट लेगा

9 - एक बार फिर गणपति मय हुई माया नगरी मुंबई

10 - पत्रकारिता की आड़ में फर्जीवाड़े के खिलाफ एनयूजे(आई) छेड़ेगी राष्ट्रव्यापी मुहीम

11 - भ्रष्टाचार, तुस्टिकरण एवं परिवारवाद विकास के दुश्मन

12 - एक बार फिर शुरू हुई पश्चिम बंगाल में रक्त रंजित राजनीति

13 - नहीं होगा बीजेपी के लिऐ आसान कर्नाटक में कांग्रेस के चक्रव्यूह को भेद पाना

14 - रद्द करने के बाद भी नहीं खामोश कर पायेंगे मेरी जुबान

15 - उत्तर-पूर्वी राज्यों के अल्पसंख्यकों ने एक बार फिर बीजेपी पर जताया भरोसा

16 - 7 लाख तक की आमदनी टैक्स फ्री

17 - गुजरात में फिर एक बार लहराया बीजेपी का परचम

18 - बीजेपी आप में काँटे की टक्कर

19 - सीमित व्यवस्था के बावजूद धूम-धाम से हो रही है छट माइय्या की पूजा

20 - जहाँ आज भी पुजा जाता है रावण

21 - एक बार फिर माया नगरी हुई गणपतिमय

22 - एक बार फिर लहराया तिरंगा लाल किले की प्राचीर पर

23 - बलवाइयों एवं जिहादियों के प्रति पनपता सहनभूतिक रुख

24 - आजादी के अमृत महोत्सव की कड़ी के रूप में मनाया जा रहा है 8 वाँ विश्व योग दिवस

25 - अपने दिग्गज नेताओं को नहीं संभाल पाई कांग्रेस पार्टी

26 - ज्ञान व्यापी मस्जिद के वजु घर में शिवलिंग मिलने से विवाद गहराया

27 - आखिर क्यूँ मंजूर है इन्हे फिर से वही बंदिशें.....

28 - पाँच में से चार राज्यों में लहराया कमल का परचम

29 - पेट्रोलियम, फर्टिलाइजर एवं खाद्य सामाग्री पर मिलने वाली राहत में लगभग 27 फीसदी की कटौती

30 - जे&के पुलिस के सहायक उप निरीक्षक बाबूराम शर्मा मरणोपरांत अशोक चक्र से संमानित

31 - आखिर कौन होंगे सत्ता के इस महाभोज के सिकंदर

32 - ठेके आन फिटनेस सेंटर ऑफ छा गए केजरीवाल जी तुस्सी

33 - मुख्य सुरक्षा अधिकारी हुए पंचतत्वों विलीन

34 - दिल्ली में यमुना का पानी का बीओडी लेवेल 50 के पार

35 - फूक के कदम रखिए वरना हो सकता है आपका भी अगला नंबर

36 - महंत नरेंद्र गिरी की मौत पर लगे सवालिया निशान

37 - अकाली दल बादल ने लगाई हैट्रिक

38 - सबके साथ,सबके विकास,सबके विश्वास एवं सबके प्रयास से ही लक्ष्य प्राप्ति संभव

39 - जबरन कराया गया बच्ची का अंतिम संस्कार

40 - सिने जगत के ट्रेज्डी किंग को देश का आखरी सलाम

41 - कोरोना से जंग मे योग ही एक आशा की किरण

42 - संक्रमण काल का मंत्र फिट रहें दुरूस्त रहें

43 - एक बार फिर लहराया पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस का परचम

44 - हिंसा एवं टकराव की बिसात पर बंगाल की राजनीति

45 - ट्रेक्टर रैली के नाम पर बलवाइयों का तांडव

46 - 72 वें गणतंत्र दिवस का आकर्षण राम मंदिर की झांकी

47 - किसान आंदोलन का रूख कहीं पंजाब में संभावित चुनाव तो नहीं

48 - बिहार में फिर एक बार यूपीए का परचम

49 - बिहार में इस बार का चुनावी मुद्दा है विकास

50 - जातिगत एवं सांप्रदायिक एंगल से चमकती राजनीति

छात्रों को क़ानून शिक्षा की ओर रूख करना चाहिए: प्रो आदित्य केदारी

नई दिल्ली: कानूनी कठिनाइयों से जूझ रहे किसी भी क्षेत्र में हर किसी को वकील की जरूरत होती है! चाहे निजी क्षेत्र हो या सार्वजनिक क्षेत्र; समय-समय पर हर क्षेत्र में वकीलों की जरूरत पड़ती रहती है। न केवल कंपनियों या सरकारी कार्यालयों को, बल्कि व्यक्तिगत स्तर पर भी कानूनी समस्याओं को सुलझाने के लिए इन वकीलों की मदद की ज़रूरत होती है। यही कारण है कि कानून की पढ़ाई कर चुके स्नातकों को आज करियर के कई अवसर उभरते दिख रहे हैं। इसलिए छात्रों को इस क्षेत्र की ओर रुख करना चाहिए। ऐसी अपील एमआईटी आर्ट, डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी के 'स्कूल ऑफ लॉ' की प्रोफेसर आदित्य केदारी ने की। वह एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित प्रेस कन्फ्रेंस में बोल रहे थे। विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी प्रो. चंद्रकांत बोरुडे भी इस अवसर पर मौजूद थे।  उन्होंने एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी 'स्कूल ऑफ लॉ' द्वारा छात्रों के लिए उपलब्ध पांच वर्षीय बीबीए-एलएलबी, तीन वर्षीय एलएलबी, दो वर्षीय एलएलएम, एक वर्षीय डिप्लोमा इन लीगल जर्नलिज्म पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी दी।
 
प्रो. केदारी ने बताया कि, एमआईटी एडीटी विश्वविद्यालय प्रोफेसर डॉ. विश्वनाथ दा. कराड के मार्गदर्शन और प्रोफेसर डॉ. मंगेश कराड के दृष्टिकोण के साथ बनाया गया एक विश्वविद्यालय है और पारंपरिक शिक्षा के साथ-साथ छात्रों को कौशल आधारित भविष्य की नौकरियों के अवसरों की पहचान करके शिक्षा प्रदान करता है। हमारे हजारों छात्र विभिन्न क्षेत्रों में बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। 125 एकड़ में फैला विश्वविद्यालय परिसर विभिन्न विश्व स्तरीय सुविधाओं से सुसज्जित है। दरअसल, एमआईटी इंजीनियरिंग शिक्षा के लिए जाना जाता था और है। लेकिन अब जब एमआईटी एजुकेशन ग्रुप तेजी से विस्तार कर रहा है, इसीलिए कानून के सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र में अद्वितीय शिक्षा प्रदान करने के लिए स्कूल ऑफ लॉ की स्थापना की गई थी। इसलिए अब हम छात्रों को कानून की शिक्षा में विभिन्न अवसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
 
मेरिट के आधार पर 1.5 लाख तक की छात्रवृत्ति
एमआईटी यूनिवर्सिटी सभी आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को कुशल शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए, स्कूल ऑफ लॉ छात्रों को उनकी योग्यता के अनुसार शैक्षणिक शुल्क में 1.5 लाख तक की छात्रवृत्ति प्राप्त करने का अवसर प्रदान कर रहा है। इसलिए डीन डॉ. सपना दे ने अपील की है कि वे जल्द से जल्द प्रवेश तय करके इस अवसर का लाभ उठाएं।

12:45 pm 26/06/2024

संपादक

डा. अशोक बड़थ्वाल

Mobile : 91-9811440461

editor@dhanustankar.com

Slideshow

समाचार

1 - दिल्ली और अन्य राज्यों में चल रहा था अवैध किडनी ट्रांसप्लांट का कारोबार

2 - हर एक बच्चे को अच्छी शिक्षा निगम का संकल्प: डॉ शैली ओबेरॉय

3 - राजनीति में हिंसक टिप्प्णी घातक: डॉ सुधांशु त्रिवेदी

4 - श्री अकाल तख्त साहिब हर सिख के लिए सर्वोच्च: सरना

5 - अखिल भारतीय युवा कांग्रेस का सदस्यता अभियान

6 - बिजली का मीटर लगाते वक्त शुल्क लिए जाने के बावजूद भी बिल में एड किया जा रहा है मीटर रेंट

7 - पंजाब में नशे के तस्करों पर नकेल कसने के बजाय नशेड़ियों की हों रही है धर पकड़: बीबी रणजीत कौर

8 - बैड न्यूज को लेकर दर्शकों के इंतजार की घड़ियां खत्म

9 - भाजपा के हस्तक्षेप के बाद दिल्ली के उप राज्यपाल ने 5004 सरकारी शिक्षकों के ट्रांसफर ऑर्डर पर रोक

10 - एक्सीडेंट और कॉन्सपरेसी गोधरा

11 - करतारपुर साहिब के लिए पासपोर्ट की जगह आधार कार्ड को मान्यता को मन्यतार दी जाए: सरना

12 - दिल्ली वाले नैतिकता के आधार पर केजरीवाल सरकार से क्या उम्मीद रखें: मनोज तिवारी

13 - अकाली दल को कमजोर करने की साजिशें विभाजन से पहले भी जारी थीं: सरना

14 - हिंदुओं को हिंसक बताकर अपमानित करने के विरोध में हिंदू शक्ति संगम

15 - अर्जुन तंवर का नवीनतम डेब्यू ट्रैक बंजारे

16 - दिल्ली में हर साल भ्रमण के लिए आने वाले लगभग 25 लाख सैलानियों की व्यवस्था अब होगी आसान

17 - दिल्ली के 5000 सरकारी स्कूल के शिक्षकों के तबादले का मामला राजनीति से प्रेरित था: अतिशी

18 - महावीर इंटरनेशनल एपेक्स की स्वर्ण जयंती

19 - मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने छतरपुर के पास पेड़ गिराने की स्वीकृति दी थी: वीरेन्द्र सचदेवा

20 - बरनाला परिवार भी दशकों से अकाली दल का अहम हिस्सा: सरना

21 - अग्निवीर पर स्वेत पत्र होना चाहिए जारी : कर्नल रोहित चौधरी

22 - इलेक्ट्रॉनिक मार्ट के लकी ड्रा विजेताओं को 50 लाख के पुरस्कार

23 - कुलविंदर कौर का तबादला दुर्भाग्यपूर्ण: सरना

24 - खडूर साहिब क्षेत्र की सेवा करने के लिए लंबित मुकदमे से मुक्त होने के हकदार हैं अमृत पाल : सरना

25 - “किल” द एक्शन थ्रिलर फिल्म 5 जुलाई को देश भर के सिनेमा हॉलों में। होगी रिलीज

26 - 1989 में सिमरनजीत सिंह मान की तरह अमृतपाल को भी मिले संसद में शपथ के लिए अंतरिम जमानत : बीबी रणजीत कौर

27 - NTA द्वारा मानदंडों को ताक पर रखकर जय जलाराम स्कूल को बनाया गया था एक्ज़ामिनेशन सेंटर

28 - दो बार की बारिश से चरमरा गई दिल्ली की व्यवस्था

29 - एक्सीडेंट ऑर कांस्पिरेसी गोधरा होगी 12 जुलाई को सिनेमा घरों में रिलीज

30 - क्यूँ टपका पानी श्रीराम जन्मभूमि मंदिर की छत से बारिश के दौरान

31 - शिरोमणि अकाली दल और ऑपरेशन लोटस सफल नहीं होगा: सरना

32 - शिरोमणि अकाली दल और ऑपरेशन लोटस सफल नहीं होगा: सरना

33 - छात्रों को क़ानून शिक्षा की ओर रूख करना चाहिए: प्रो आदित्य केदारी