नई दिल्ली 08, Oct 2022

लेख

1 - जहाँ आज भी पुजा जाता है रावण

2 - एक बार फिर माया नगरी हुई गणपतिमय

3 - एक बार फिर लहराया तिरंगा लाल किले की प्राचीर पर

4 - बलवाइयों एवं जिहादियों के प्रति पनपता सहनभूतिक रुख

5 - आजादी के अमृत महोत्सव की कड़ी के रूप में मनाया जा रहा है 8 वाँ विश्व योग दिवस

6 - अपने दिग्गज नेताओं को नहीं संभाल पाई कांग्रेस पार्टी

7 - ज्ञान व्यापी मस्जिद के वजु घर में शिवलिंग मिलने से विवाद गहराया

8 - आखिर क्यूँ मंजूर है इन्हे फिर से वही बंदिशें.....

9 - पाँच में से चार राज्यों में लहराया कमल का परचम

10 - पेट्रोलियम, फर्टिलाइजर एवं खाद्य सामाग्री पर मिलने वाली राहत में लगभग 27 फीसदी की कटौती

11 - जे&के पुलिस के सहायक उप निरीक्षक बाबूराम शर्मा मरणोपरांत अशोक चक्र से संमानित

12 - आखिर कौन होंगे सत्ता के इस महाभोज के सिकंदर

13 - ठेके आन फिटनेस सेंटर ऑफ छा गए केजरीवाल जी तुस्सी

14 - मुख्य सुरक्षा अधिकारी हुए पंचतत्वों विलीन

15 - दिल्ली में यमुना का पानी का बीओडी लेवेल 50 के पार

16 - फूक के कदम रखिए वरना हो सकता है आपका भी अगला नंबर

17 - महंत नरेंद्र गिरी की मौत पर लगे सवालिया निशान

18 - अकाली दल बादल ने लगाई हैट्रिक

19 - सबके साथ,सबके विकास,सबके विश्वास एवं सबके प्रयास से ही लक्ष्य प्राप्ति संभव

20 - जबरन कराया गया बच्ची का अंतिम संस्कार

21 - सिने जगत के ट्रेज्डी किंग को देश का आखरी सलाम

22 - कोरोना से जंग मे योग ही एक आशा की किरण

23 - संक्रमण काल का मंत्र फिट रहें दुरूस्त रहें

24 - एक बार फिर लहराया पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस का परचम

25 - हिंसा एवं टकराव की बिसात पर बंगाल की राजनीति

26 - ट्रेक्टर रैली के नाम पर बलवाइयों का तांडव

27 - 72 वें गणतंत्र दिवस का आकर्षण राम मंदिर की झांकी

28 - किसान आंदोलन का रूख कहीं पंजाब में संभावित चुनाव तो नहीं

29 - बिहार में फिर एक बार यूपीए का परचम

30 - बिहार में इस बार का चुनावी मुद्दा है विकास

31 - जातिगत एवं सांप्रदायिक एंगल से चमकती राजनीति

32 - हाथरस मामले में तुष्टिकरण की राजनीति

33 - गणपति बप्पा मोरया पुढ़ल बरस तू लोकर आ

34 - बालीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत हत्या या आत्महत्या

35 - आत्मनिर्भर भारत देश के लिये महामंत्र

36 - भूमि पूजन के साथ शुरू हुई राम लला के गृह निर्माण की तैयारी

37 - उत्तर एवं पूर्वोत्तर भारत पर छाया प्राकृति का प्रकोप

38 - साइबर वार ने लिया खतरनाक मोड़

39 - सीमा तनाव के पीछे चीन की दोहरी मानसिक्ता

40 - कोरोना संक्रमण काल में भी सक्रिय है पासों की बिसात पर राजनीति

41 - अनानास मे विस्फोटक पदार्थ डालकर हाथी की हत्या

42 - उड़ीसा एवं वेस्ट बंगाल में तबाही का मंजर

43 - जारी है प्रवासी मजदूरों का भारी संख्या में पलायन

44 - कश्मीर में आज भी सक्रिय जहिादी गतिविधियाँ

45 - परस्पर सदभाव संवाद एवं शांति से होगी कोविड 19 पर विजय

46 - पालघर हत्याकांड की सीबीआई जाँच की माँग

47 - समरथ को नहीं दोष गोसाई

48 - जिला एवं तहसील स्तर पर प्रकाशनों की दुर्दशा का भी जरूरी है संज्ञान

49 - आगामी सप्ताह सख्ति से होगा लाक डाउन के नियमों का अनुपालन

50 - ध्यान एवं शारिरिक क्रियाओं के माध्यम से फिट रहिये स्वस्थ्य रहिये

साइबर वार ने लिया खतरनाक मोड़

परमाणु एवं केमिकल वार से कहीं ज्यादा खतरनाक है साइबर वार । हेकिंग के माध्यम से नेटवर्क में अवरोध पैदा कर ध्वस्त हो सकती है किसी भी देश का बुनियादी ढ़ाँचा  एवं अर्थव्यवस्था । यहाँ तक की ध्वस्त किये जा सकते हैं सैन्य ठिकाने । कुल मिलाकर हेकिंग के जरिये किसी भी व्यवस्था के ढ़ाँचे को हिलाना । 

भारत ने भी सुरक्षा के मध्यनजर लगाया 59 से भी अधिक मोबाइल एप्लिकेशनस पर बेन । जिन्में ज्यादातर एप्लिकेशन चीन द्वारा निर्मित हैं और इनका नियंत्रण चीन में हैं । इनमें टिक-टोक,हेलो एवं वीचेट जैसी सामाजिक मीडिया प्लेटफार्म एप्लिकेशन भी शामिल हैं जिनके माध्यम से निजी डेटा इधर से उधर होने की संभावना बनी रहती है ।


हाल ही में फोरन कोरस्पोंडेंट क्लब साउथ एशिया द्वारा आयोजित आनलाइन परिचर्चा में एमपी के एडिजी एवं अंतरराष्ट्रीय साइबर क्राइम विशेषज्ञ श्री वरूण कपूर की प्रेजेंटेशन के अनुसार साइबर वल्ड की दुनिया में जहाँ 7 बिलियन मोबाइल उपभोगता,2 बिलियन फेसबुक यूजर्स ,1 मिलियन आनलाइन बायर्स हैं एवं 144 बिलियन मेल्स का आदान-प्रदान प्रतिवर्ष होता है , बचाव का एक ही मार्ग उचित जानकारी एवं सही निर्णय ।


गुगल को जानकारी के लिये इस्तेमाल करने वालों का आंकड़ा 2 बिलियन सालाना है । साइबर सिक्युरिटी वेंचरस के हवाले से साइबर वार से होने वाले नुकसान का आंकलन 2021 तक 6 त्रिलियन यूएस डालर प्रतिवर्ष अनुमानित है । 2015 में यह नुकसान 3 त्रिलियन डालर था ।


साइबर क्राइम के माध्यम और शिकार बनते हैं नेटवर्क सब्सक्राइबर्स एवं यूजर्स । उनके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली आन लाइन एप्लिकेशनस । जिन्में मोबाइल एप्लिकेशन भी शामिल हैं । 2022 तक दुनिया भर में नेटवर्क यूजर्स का आंकड़ा  6 विलियन पार कर जायेगा जो कि उस समय की जनसंख्या का 75 प्रतिशत होगा । 2017 में यह आंकड़ा 3.8 बिलियन था । याने की उस समय की जनसंख्या का 50 प्रतिशत ।


भारत भी इस वक्त साइबर वार के दौर से गुजर रहा है । भारत में नेटवर्क यूजर्स की संख्या 560 मिलियन है और 2023 में यह आंकड़ा 650 मिलियन पार कर जायेगा । भारत नेटवर्क इस्तेमाल करने वाला चीन के बाद दूसरे नंबर का सबसे बड़ा देश है ।


अब गौर फरमाते हैं भारत में साइबर क्राइम से होने वाले नुकसान पर । स्टेटिस्टा के हवाले से 2017 में साइबर क्राइम के जरिये से भारतीय उपभोकताओं को हुए नुकसान का आंकलन 18 बिलियन यूएस डालर था । भारत ही नहीं अमेरिका जैसे संपन्न विश्व के अनेक देश हैं साइबर अटेक से प्रभावित ।



भारत में भी नीति आयोग के नेतृत्व में साइबर संस्थानों के माध्यम से सुरक्षा के मध्य-नजर नीति निर्धारण का सिलसिला जारी है ...... 
 

12:23 pm 04/07/2020

संपादक

डा. अशोक बड़थ्वाल

Mobile : 91-9811440461

editor@dhanustankar.com

Slideshow

समाचार

1 - कहीं न कहीं सनातन सेंसर बोर्ड है जरूरी

2 - नागरिकों के लिये सायबर स्वच्छता

3 - गाँधी जयंती पर कांग्रेस करेगी दलित-अल्पसंख्यक महासम्मेलन का आयोजन

4 - पीएफआई पर लगाया गृह मंत्रालय ने पाँच साल के लिये प्रतिबंध

5 - प्लास्टिक के कट्टे में अवैध रूप से ले जाये जा रहे 6 किलो पटाखे बरामद

6 - दिल्ली नगर निगम वार्डों के परसीमन ड्राफ्ट को अलोकतांत्रिक बताते हुऐ वापसी की मांग

7 - इस्लामिक कट्टरपंथियों द्वारा हिंदुओ पर हमले के विरोध में ब्रिटिश दूतावास पर प्रदर्शन

8 - निगम वार्डों के परिसीमन ड्राफ़्ट पर कांग्रेस ने जताई आपत्ति

9 - स्मार्ट पुलिसिंग के लिये आधुनिक तकनीक से लेस होना जरूरी

10 - ड्यूटी के बाद धमाल के साथ गणपति विसर्जन

11 - गुरुद्वारा सिंह सभा के मौजूदा अध्यक्ष एवं सरना गुट के इंद्रप्रीत कोचर में कांटे की टक्कर

12 - नई एक्साइज पॉलिसी को लेकर सवालों के घेरे में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया

13 - एटीएम मशीन के कार्ड स्लॉट पर फेवी क्विक लगाकर होती थी ठगी था

14 - आखिर ऐसी भी क्या मजबूरी थी कि नई एक्साइज पालिसी को खारिज कर फिर से पुरानी पालिसी लागू करनी पड़ी

15 - रोहिंग्या एवं बांग्लादेशियों को वोट बैंक के लिऐ दिया जा रहा है दिल्ली में संरक्षण

16 - कुछ दिन तो बिताईये राजस्थान में

17 - कभी गुजरात से पौड़ी गढ़वाल चलके आया था यह गौड़ ब्राह्मणों का काफिला

18 - हमारी जान तिरंगा है हमारी शान तिरंगा है

19 - पंजाब में धर्म प्रचार की आड़ में हो रही है पॉलिटिकल फील्डिंग

20 - कैसे ठिकाने लगाया जाता था नई आबकारी नीति से उगाया गया पैसा

21 - आतंकवादी गतिविधियों से निपटने के लिये मोक ड्रिल का आयोजन

22 - एसजीपीसी द्वारा संचालित विश्रामगृहों से जीएसटी तत्काल प्रभाव से वापिस लिये जाने की मांग

23 - संत मार्गदर्शक मंडल की बैठक में हिंदुओं पर हो रहे जिहादी हमलों की समीक्षा

24 - सीबीआई की जाँच के डर से वापिस ली गई नई आबकारी नीति

25 - वापिस ली गई आबकारी नीति के दोषियों के खिलाफ सीबीआई से जांच की मांग

26 - प्रतिबंधित चाइनीज माँझे के 155 रोल बरामद

27 - दिल्ली के लाल पर एक बार फिर ताजा होंगी भाई लखी शाह वंजारा की लाल किले पर यादें

28 - राम ऑर कृष्ण ही भारत की पहचान

29 - लड़कियों का लिबास धारण कर दिया जाता लूट-पाट की वारदातों को अंजाम

30 - देश संविधान से चलेगा शरियत या जिहाद के नाम से नहीं

31 - बॉर्डर एवं सुनसान इलाकों की चेक पोस्टों पर लगेंगे 180 ऑटोमेटिक नंबर प्लेट डिटेक्शन केमरे

32 - कहीं न कहीं जरूरी है जीएसटी में बदलाव

33 - रोजगार का झांसा देकर किया 23 लाख का झोल